पत्नी ने पति को खाने में जहर मिलाकर दिया, बेहोश होने पर प्रेमी संग मिल कर दी हत्या

 
poison

 राजस्थान की परमाणु नगरी पोकरण में एक शख्स की हत्या के आरोप में उसकी पत्नी को ही पुलिस ने मुख्य आरोपी बनाया है। पुलिस का दावा है कि बेवफा बीवी ने अपने प्रेमी के संग मिलकर वारदात को अंजाम दिया है। घटना पोकरण शहर के खटीक मोहल्ले की है। बताया जा रहा है कि बीते 7 अगस्त की रात को आरोपी रेखा ने अपने पति महेश कुमार के खाने में जहर मिला दिया। 

जब पति के पैर जहर के धीमे नशे में लड़खड़ाने लगे तो पत्नी रेखा ने अपने प्रेमी के कहने पर पति का गला घोंट दिया और पति को मौत की नींद सुला दिया। पोकरण पुलिस ने बेवफा पत्नी व प्रेमी को सलाखों को गिरफ्तार कर कानूनी प्रक्रिया के बाद जेल भेज दिया है।

पोकरण थानाधिकारी महेंद्र सिंह खींची ने बताया कि परिवादी ओममप्रकाश पुत्र गोपुराम खटीक ने अपने भाई महेशकुमार की मृत्यु के संबंध में बीते 8 अगस्त को एक शिकायत दर्ज कराई। इस पर पुलिस ने जांच शुरू की। इसी दौरान 3 सितंबर को परिवादी जितेन्द्र पुत्र अशोक कुमार ने थाने में एक रिपोर्ट पेश की कि 7 अगस्त की रात्रि को मेरे ताउजी के लड़के दिलीप का फोन मेरे पास आया। उसने बताया कि चाचा महेश कुमार की तबीयत ठीक नहीं है। 

इस पर जैसलमेर से पोकरण पहुंचा तब तक मेरे चाचा महेश की मृत्यु हो चुकी थी। जिस दिन मेरे चाचा की मृत्यु हुई उसी दिन महेश कुमार की पत्नी ने दिलीप को फोन पर बताया कि तुम्हारे चाचा ने जहर पी लिया है। चाचा को अस्पताल लेकर गये तब दिलीप भी उनके पीछे पीछे पोकरण अस्पताल गया।

अनुसंधान अधिकारी महेन्द्र सिंह निरीक्षक, कास्टेंबल बुद्धाराम बिश्नोई पुलिस मय जाब्ता द्वारा प्रकरण की गंभीरता को देखते हुए घटनास्थल का गहनता से निरीक्षण किया व संदिग्ध लोगों से पूछताछ की गई। जांच में हत्या का शक मृतक की पत्नी पर होने से गहनता से पूछताछ की गई तो बीवी ने अपने प्रेमी सम्पत राज उर्फ धनराज पुत्र श्रवणराम जाति खटीक निवासी मूण्डवा जिला नागौर से तीन वर्षों से दोस्ती होना तथा प्रेमी के कहने पर ही अपने पति को खाना में जहर मिलाकर खिलाना तथा घायल होने पर गला दबाकर हत्या करना स्वीकार किया है। पोकरण पुलिस ने महेश की पत्नी व उसके साथ आपराधिक षडयंत्र रचने वाले सम्पतराज उर्फ धनराज को गिरफ्तार कर मामले में हैरान करने वाला खुलासा किया।