ऐसा क्या हुआ इंजेक्शन लगाते ही 11 साल के बच्चे के मुंह से निकलने लगे झाग और हो गई मौत

 
11 वर्षीय मासूम की मौत हो गई

सिरोही। जिले के रेवदर के सामुदायक स्वास्थ्य केन्द्र पर डॉक्टर के इंजेक्शन लगाने के बाद एक मासूम बच्चे के मुंह से झाग निकला और शरीर ठंडा पड़ने लगा। आरोप है कि चिकित्सक ने मासूम बच्चे की मां को कमरे से बाहर निकाल दिया और इंजेक्शन लगाने के कुछ ही देर बाद मासूम ने तड़प-तड़प कर अपनी जान दे दी।

महिला अपने 11 साल के बच्चे को बुखार होने पर इलाज के लिए सरकारी अस्पताल लेकर आई थी। बच्चे की मौत के बाद परिजनों ने अस्पताल में जमकर हंगामा कर दिया। उसके बाद पुलिस प्रशासन और चिकित्सा विभाग के अधिकारी मौके पर पहुंचे।
जानकारी के मुताबिक, राजकिय अस्पताल में कार्यरत डॉ. मुकेश मीणा ने बच्चे का इलाज किया। इलाज के दौरान इंजेक्शन लगाते ही बच्चे के मुंह से झाग निकलना शुरू हो गया तथा उसका शरीर लचीला पड़ गया। पास खड़ी बच्चे की मां गजरी देवी ने तुरंत डॉक्टर को टोकते हुए कहा कि मेरे बच्चे को अचानक क्या हो गया? आरोप है कि डॉक्टर मीणा ने महिला को कमरे से बाहर निकाल दिया और महिला से बच्चे को तुरंत अस्पताल से लेकर जाने को कहा।

कुछ ही समय में 11 वर्षीय मासूम की मौत हो गई। डॉक्टर की लापरवाही पर परिजनों ने अस्पताल में हंगामा कर दिया। बाद में पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंचे, बच्चे की मोत के बारे में जानकारी ली।

रेवदर पुलिस उपाधिक्षक नरेंद्र सिंह ने बताया कि परिजनों से समझाईश कर बच्चे के शव को पोस्टमार्टम के लिये मोर्चरी कक्ष में रखवा दिया गया है। कल सुबह मेडिकल बोर्ड से पोस्ट पोस्टमार्टम कराया जाएगा, उसके बाद ही आगे की कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।