रंगविलास गाँव के मुख्य रास्ते में गहरे कीचड़ से परेशान ग्रामीणों का पैदल निकलना भी है दुश्वार

- कीचड भरे पानी से होकर निकलने को मजबूर है राहगीर व ग्रामीण
 
nagarfourt

टोंक/नगरफोर्ट, (शिवराज मीना/राजाराम लालावत) । जिले के नगरफोर्ट थाना क्षेत्र की अंतिम सीमा से सटे गाँव रंगविलास में आजादी के 74 साल बाद आज भी मूलभूत सुविधाओं से वंचित हैं। गाँव के मुख्य बाजार में सीसी रोड के अभाव में ग्रामीणों व राहगीरों को गहरे कीचड़ में से होकर निकलने के लिये बेबस होना पड रहा है। ओर तो ओर गाँव के राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय में जाने का भी यही रास्ता है, जो अब सरकार की गाईडलाइन के अनुसार पहली से 8 वी तक के स्कूल भी इसी माह 20 सितम्बर से खुलने का फरमान जारी किया गया है, जो छोटे बच्चों के लिये भारी मुसीबत से कम नहीं होगा।

rangvilas

वही गाँव के बड़े बुजर्गाे व महिलाओं के लिये भी कठिन भरा रास्ता नजर आ रहा है। या यूं कहें कि ग्रामीण आज भी नारकीय जीवन जीने को मजबूर है। वही बारिश के दिन होने से भी कीचड़ मेले पानी में जहरीले सांप, कीड़े जैसे जीवों का डर बना रहता है। जो रात हो या दिन ग्रामीण अधिकतर इसी रास्ते से पशु चराने, खेत कुओं पर जाने, आँगनबाड़ी सहित अन्य कामों के लिए इसी रास्ते से होकर गुजरना पड़ता है।

rangvilas ganv sadak

उधर ग्राम पंचायत चन्दवाड सरपंच झमरी देवी मीणा का कहना है कि उक्त कार्य राज्य वित्त आयोग पंचम के तहत एसएफसी में प्रस्तावित है। ग्राम विकास अधिकारी रमेश चन्द मीणा ने भी बताया कि पूर्व में भी रास्ते को लेकर गांव के वार्ड पंच ने ग्राम सभा व मासिक बैठक में अवगत करा रखा है। जो बारिश के बाद वितीय स्वीकृति जारी होते ही सीसी रोड का निर्माण कराया जायेगा।