तेज रफ्तार अज्ञात वाहन की टक्कर से सड़क दुर्घटना में एक जने की दर्दनाक मौत

 
accident tonk
जिले के पलाई क्षेत्र में उनियारा-गुलाबपुरा नेशनल हाईवे 148डी पर कचरावता बालाजी के समीप नगरफोर्ट थाना क्षेत्र में शुक्रवार देर रात्रि को तेज रफ्तार अज्ञात वाहन की जबरदस्त टक्कर से एक व्यक्ति की सड़क दुर्घटना में दर्दनाक मौत हो गई।

 टोंक/पलाई/उनियारा,(शिवराज मीना/माजिद मोहम्मद) । जिले के पलाई क्षेत्र में उनियारा-गुलाबपुरा नेशनल हाईवे 148डी पर कचरावता बालाजी के समीप नगरफोर्ट थाना क्षेत्र में शुक्रवार देर रात्रि को तेज रफ्तार अज्ञात वाहन की जबरदस्त टक्कर से एक व्यक्ति की सड़क दुर्घटना में दर्दनाक मौत हो गई। टक्कर इतनी भयानक थी कि व्यक्ति के शरीर की लाश के करीब 30 फिट तक चिथड़े-चिथडे बिखर गए। मानवता को शर्मसार करने वाली बात यह रही कि शुक्रवार देर रात को हुई दुर्घटना में मृत व्यक्ति की सूचना किसी ने भी रातभर पुलिस को नहीं दी। 

शनिवार सुबह 7 बजे करीब नगरफोर्ट पुलिस को सड़क दुर्घटना में युवक के मौत की सूचना मिलने पर उनियारा पुलिस उपाधीक्षक प्रदीप कुमार गोयल सहित तीन थानों की पुलिस में नगरफोर्ट थानाधिकारी सलीम खान, एएसआई रतनलाल मीणा मय जाब्ता श्रीराम मीणा हैड कांस्टेबल, उनियारा थानाधिकारी राधाकिशन मीणा मय जाब्ता तथा नैनवॉं थाना पुलिस मौके पर पहुंची। घटना का थाना ईलाका सीमा नगरफोर्ट होने पर नगरफोर्ट पुलिस ने लाश को अपने कब्जे में लेकर हाईवे एम्बुलेंस की सहायता से अस्पताल उनियारा पहुंचाया गया। जहाँ पर शव की शिनाख्त नहीं होने व डीफ्रीज की व्यवस्था नहीं होने पर शव को जिला सआदत अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया गया है।

 जानकारी पर उनियारा पुलिस उपाधीक्षक प्रदीप कुमार गोयल ने बताया कि प्रथम दृष्टया उक्त दुर्घटना किसी भारी वाहन की टक्कर से होना प्रतीत लग रही है तथा मृतक युवक मानसिक विक्षिप्त प्रतीत हो रहा है। जिसकी उम्र करीब 30-35 वर्ष के बीच है। पुलिस मामले की गम्भीरता के साथ जांच कर रही है तथा मृतक के पहचान की शिनाख्त करने की कोशिश की जा रही हैं। पुलिस अनुसंधान के बाद ही आगे की स्थिति स्पष्ट की जा सकती है। वहीं एफएसएल टीम भी मौके पर पहुंची और घटना स्थल से साक्ष्य जुटाए गए। 

मानवों की मानवता हुई तार-तार 
उनियारा-नैनवां-गुलाबपुरा एनएच 148डी पर कचरावता बालाजी के पास सड़क दुर्घटना में व्यक्ति की मौत होने की सूचना मिलने के बाद तीन थानों की पुलिस मौके पर पहुंची और नगरफोर्ट पुलिस ने लाश को अपने कब्जे में लिया। इस दौरान उक्त घटना स्थल पर 20-25 व्यक्ति मौके पर मौजूद थे। लेकिन किसी ने लाश ढ़कने के लिए एक कपड़ा तक देना मुनासिब नहीं समझा। वहीं लाश को उठाने के वक्त भी सहयोग में मौजूद सभी लोग अपने कर्तव्य से पीछे हटते नजर आए तथा एंबुलेंस कर्मी ने भी मना कर दिया। इस पर नगरफोर्ट थाना पुलिस के एएसआई रतनलाल मीणा के द्वारा लताड़ पिलाने पर एम्बुलेंस कर्मी ने पुलिस की मदद से लाश को एम्बुलेंस में रखा। सोचने व देखने वाली शर्मसार बात यह रही कि रात के समय हुई घटना की सूचना पुलिस को देना किसी ने भी मुनासिब नहीं समझा। जिसके चलते हुए लाश रात भर रोड़ पर ही पड़ी रही। 

मृतक की शिनाख्त नहीं होने के चलते लाश को जिला अस्पताल मोर्चरी में भिजवाया 
पलाई क्षेत्र में एनएच 148डी कचरावता बालाजी के पास हुई सड़क दुर्घटना में मृतक अज्ञात मृतक की शिनाख्त नहीं होने पर लाश को उनियारा अस्पताल पहुंचाया, जहाँ डीफ्रीज की व्यवस्था नहीं होने के चलते शव को टोंक जिला मुख्यालय स्थित सआदत अस्पताल की मोर्चरी में भिजवाया गया है।