Tonk: मोरझालान झौपडियां गांव में आजादी के 74 वर्षों बाद भी ग्रामीणों को नसीब नहीं हुई पक्की सड़क

-कच्चे आम रास्ते पर अतिक्रमण, जमा गंदगी ओर कीचड़ से राहगीरों व स्कूली बच्चों को आवागमन में हो रही भारी परेशानी
- पंचायत प्रशासन व उच्चाधिकारियों को अवगत कराने के बाद भी नहीं हो रहा समस्या का समाधान
 
जमा गंदगी ओर कीचड़

टोंक/उनियारा,(शिवराज मीना/मुजम्मिल सारण)। जिले के उनियारा उपखण्ड़ क्षेत्र के खातोली ग्राम पंचायत के मोरझालान की झौपड़ियां गाँव में आजादी के 74 वर्षों बाद भी ग्रामवासियों को आवागमन के लिए पक्की सड़क नसीब नहीं है। वहीं आम रास्ते पर प्रभावशाली लोगों द्वारा अतिक्रमण कर रास्ते को अवरूद्ध करने से आम रास्ते में बारिश का कीचड़युक्त पानी जमा होने से राहगीरों व स्कूली बच्चों को आवागमन में भी भारी परेशानी हो रही है।

 आवागमन में हो रही भारी परेशानी

जबकि ग्रामीणों ने समस्या को लेकर पूर्व में भी खातोली ग्राम पंचायत सरपंच व ग्राम विकास अधिकारी सहित प्रशासन के उच्चाधिकारियों व जनप्रतिनिधियों को अवगत करा देने के बावजूद भी समस्या पर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। आम रास्ते में जमा बारिश के कीचड़युक्त पानी से समस्या अभी तक भी जस की तस बनी हुई है। जानकारी के अनुसार मोरझालान झौपड़ियां गांव निवासी राजकीय महाविद्यालय उनियारा छात्रसंघ अध्यक्ष मेघराज मीना व खातोली ग्राम पंचायत के वार्ड़ पंच रामजीलाल मीना, पूर्व वार्ड पंच रामहेत मीणा, लादूराम, मोहन, आत्माराम, कान्जी मीणा सहित ग्रामीणों ने उपखण्ड़ अधिकारी उनियारा को बीते दिनों 4 अक्टूबर को दिए गए ज्ञापन में बताया कि मोरझालान की झौपड़ियां गांव में पक्की सडक नहीं है, कच्चे आम रास्ते पर कुछ प्रभावशाली लोगों ने अतिक्रमण कर रखा है। जिससे आम रास्ते पर बारिश का पानी जमा होने से भंयकर कीचड़ जमा हो गया है।

जिससे आमजन व राहगीरों तथा स्कूली बच्चों को आवागमन में काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। वहीं ग्रामीणों ने बताया कि विद्यालय में जाने वाले रास्ता सहित विद्यालय भवन बम्बूलों से घिरा हुआ होने तथा आम रास्ते में जमा कीचड़युक्त पानी में मच्छरों के पनपने से बीमारियां फेलने की आंशका बनी हुई है। इस समस्या को लेकर ग्रामीणों ने पूर्व में भी कई बार ग्राम पंचायत के सरपंच व ग्राम विकास अधिकारी सहित प्रशासन के उच्चाधिकारियों को अवगत कराया जा चुका है। लेकिन अभी समस्या का कोई समाधान नही होने से राहगीरों व स्कूली बच्चों तथा वाहन चालकों को आम रास्ते में जमा कीचड़युक्त पानी में होकर गुजरना पड़ रहा है।

ग्रामीणों ने प्रशासन के उच्चाधिकारियों से आम रास्ते में हो रहे अतिक्रमण को हटाकर रास्ते में जमा कीचड़युक्त पानी की निकासी करवाकर आम रास्ते में सड़क निर्माण कराने की मांग की गई है। इसी को लेकर छात्रसंघ अध्यक्ष मेघराज मीणा, वार्ड पंच रामजीलाल मीणा सहित ग्रामीणों ने बताया कि बीते दिनों 4 अक्टूबर को एसडीएम उनियारा को दिए गये ज्ञापन में भी अभी तक कोई कार्यवाही नहीं हुई है, जिससे ग्रामीणों में भारी रोष व्याप्त है।