टोंक नाबालिग के अपहरणकर्ता को पुलिस ने प्रोडक्शन वारन्ट पर गुजरात के दाहोद जेल से गिरफ्तार कर पोक्सो कोर्ट में किया पेश

- कोर्ट ने आरोपी को पुलिस रिमांड पर सौंपने के दिए आदेश
 
अलीगढ़ थाना

टोंक/अलीगढ़, (शिवराज मीना/विजयसिंह मीना)। जिले के उनियारा पुलिस वृत क्षेत्र के अलीगढ़ थानान्तर्गत एक गांव से बीते माह 19 सितम्बर 2021 को एक नाबालिग लड़की के पिता की ओर से उसकी नाबालिग लड़की को बहला फुसलाकर जबरन भगा ले जाने के दर्ज मामले में पुलिस वृत कार्यालय उनियारा व अलीगढ़ थाना पुलिस की टीम ने जरिये प्रोडक्शन वारन्ट पर नाबालिग लड़की का अपहरण करने वाले आरोपी को गुजरात के दाहोद जेल से गिरफ्तार किया है। वहीं नाबालिग लड़की को पुलिस की टीम ने पूर्व में ही 24 सितम्बर 2021 को मुम्बई महाराष्ट्र क्षेत्र से दस्तयाब कर जिला बाल कल्याण समिति टोंक के समक्ष पेश किया जा चुका है।
 
जानकारी के अनुसार पुलिस वृताधिकारी उनियारा प्रदीप कुमार गोयल एवं अलीगढ़ थाना प्रभारी गोपाल सिंह राणावत ने बताया कि अलीगढ़ थाना क्षेत्र के एक गांव निवासी नाबालिग लड़की के पिता ने थाने में उपस्थित होकर 19 सितम्बर 2021 को मामला दर्ज कराया कि थाना क्षेत्र के देवली गांव निवासी किशन उर्फ कृष्ण (23) पुत्र राधेश्याम गोस्वामी उसकी नाबालिग लड़की को बहला फुसलाकर जबरन भगा कर ले गया है। जिस पर अलीगढ़ थाना पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धारा 363, 366, 376 आईपीसी, पोक्सो एक्ट 3/4, 11/12, 17/18 व एसटी-एससी एक्ट 3(1) की धारा में मामला दर्ज कर आरोपी की तलाश में टीम गठित की जाकर मुखबिर की सूचना व मोबाईल लोकेशन ट्रेस कर अलीगढ़ थाना पुलिस की टीम मुम्बई महाराष्ट्र पहुंची। जहां से 24 सितम्बर 2021 को आरोपी सहित अपहरण हुई नाबालिग लड़की को पुलिस हिरासत में ट्रेन से लेकर आ रहे थे, जहां पर आरोपी पेशाब करने का बहाना बनाकर पुलिस टीम को गच्चा देते हुए गुजरात के लिंकेडा थाना क्षेत्र के गोरिया गांव रेलवे ट्रैक के पास से चलती हुई ट्रेन से कूदकर भाग निकला। जिसका मुकदमा अलीगढ़ थाना पुलिस की टीम ने गुजरात के दाहोद जीआरपी थाने में दर्ज कराया।

अलीगढ़ थाना पुलिस के उक्त मुकदमे पर जीआरपी थाना पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर दाहोद जेल में भेज दिया गया, जहां से सूचना पर पुलिस वृत कार्यालय उनियारा एवं अलीगढ़ थाना पुलिस की टीम ने जरिए प्रोडक्शन वारन्ट पर आरोपी को दाहोद गुजरात जेल से गिरफ्तार किया है। जिसे बुधवार को पोक्सो न्यायालय टोंक में पेश किया गया, जहां से मजिस्ट्रेट ने आरोपी को पुलिस रिमाण्ड अभिरक्षा में सौंपा है। वहीं पुलिस वृताधिकारी उनियारा ने बताया कि उक्त आरोपी के खिलाफ पूर्व में भी उनियारा थाने में आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं।