टोंक में चिकित्सा विभाग द्वारा सीरो सर्विलेंस के तहत कोविड-19 की प्रतिरोधक क्षमता के सम्बन्ध में लिए जा रहे रेंडम सैंपल

 
रेंडम सैंपल

टोंक,(शिवराज मीना)। चिकित्सा विभाग द्वारा टोंक जिलेभर के सभी उपखण्ड क्षेत्रों में सीरो सर्विलेंस के तहत रेंडम सैंपल लिए जा रहे हैं। सीरो सर्विलेंस का मुख्य उद्देश्य आमजन में कोविड-19 की प्रतिरोधक क्षमता विकसित हुई है या नहीं, के सम्बन्ध में रेंडम सैंपल लिए जा रहे हैं। सीरो सर्विलेंस के अन्तर्गत टोंक जिलेभर से कुल 100 सैम्पल लिए जाएंगे, जिसमें 90 सैम्पल आमजन के, 5 सैम्पल पेट्रोल पम्प स्टाफ के एवं 5 सैम्पल पुलिस स्टेशन स्टाफ के लिए जाएंगे।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी टोंक डॉ. अशोक कुमार यादव एवं डिप्टी सीएमएचओ डॉ. महबूब खान ने बुधवार को बताया कि सीरो सर्विलेंस सेम्पल टीम में एक मेडिकल ऑफिसर, एक लैब टेक्नीशियन और एक स्थानीय एएनएम या आशा होती है, मेडिकल ऑफिसर का कार्य परिवार के सदस्य के साथ वार्तालाप करना और सीरो सर्वे एप के द्वारा डाटा मैनेजमेंट करना है। लैब टेक्नीशियन का कार्य ब्लड सैंपल लेना व सैम्पल की लेबलिंग करना एवं जांच के लिए सैंपल पहुंचाना है तथा एएनएम व आशा का कार्य मेडिकल टीम व आमजन में समन्वय स्थापित करना है।

वहीं डिप्टी सीएमएचओ डॉ. महबूब खान ने बताया कि टीम प्रोटोकॉल के तहत विशिष्ट स्थान पर जाएगी एवं रेण्डम सर्वे शुरू करेंगी। मेडिकल ऑफिसर के द्वारा आमजन को इस सर्विलेंस के उद्देश्य को विस्तार पूर्वक बताया जाएगा, व्यक्ति के द्वारा सूचना दिए जाने के बाद मेडिकल ऑफिसर के द्वारा सूचना को सीरो सर्वे ऐप में प्रविष्ट किया जाएगा। सूचना देने के बाद व्यक्ति से उसके अंगूठे का निशान एवं दो स्वतंत्र गवाह के हस्ताक्षर लिए जाएंगे। इसमें सभी जरूरत की सूचना भरने के बाद उस व्यक्ति का सैम्पल किया जाएगा तथा लिए गए सैंपल को प्रक्रिया के तहत जयपुर के सवाई मानसिंह अस्पताल की लेबोरेटरी में जांच के लिए भिजवाया जाएगा।