गले में फंदा लगाकर विवाहिता ने की अपनी जीवन लीला समाप्त, वजह जानकर रह जाओगे हेरान

 
विवाहिता ने की आत्महत्या

टोंक/देवली, (शिवराज मीना/चेतन शर्मा)। जिले के देवली उपखण्ड क्षेत्र के देवली थानान्तर्गत डाबर गांव के पास खास्या कॉलोनी में शुक्रवार को 25 वर्षीय विवाहिता ने गले में रस्सी का फंदा लगाकर लोहे की एंगल से लटक कर अपनी जीवनलीला समाप्त कर ली। घटना के समय विवाहिता का पति इसकी मां को कोरोना का टीका लगाने डाबर गया हुआ था। घटना का पता पास ही रहने वाली विवाहिता के चाचा की पुत्रवधू को उसके घर आने के बाद लगा।

पुलिस जानकारी के अनुसार प्रियंका (पिंकी) पत्नी मानसिंह मीणा निवासी जालमपुरा जहाजपुर जिला भीलवाड़ा में ससुराल है। उसकी करीब 5 वर्ष पहले शादी हुई थी। वह गत दिनों 25 सितंबर को पति के साथ अपने पीहर आई हुई थी। वह 26 सितंबर को पीपलू में रीट परीक्षा देकर वापस पति के साथ पीहर आ गई थी। इसके बाद से ही वह मानसिक तनाव में चल रही थी। देवली थाने के एएसआई सत्यनारायण मीना ने बताया कि शुक्रवार सुबह करीब नौ बजे प्रियंका का पति उसकी मां को कोरोना का टीका लगाने लिए डाबर गया हुआ था जिस कारण वो पीछे से घर पर अकेली थी। जहाँ उसने लोहे की एंगल से गले में रस्सी का फंदा लगाकर झूल गई।

इसका पता पास ही रहने वाली विवाहिता के चाचा की पुत्रवधू को चला। उसने किसी काम से प्रियंका को आवाज लगाई तो उसकी उसकी ओर से कोई आवाज नहीं आई। इस पर विवाहिता के चाचा की पुत्रवधू उसके घर आई तो वह घर में बने टीनशेड की एंगल से रस्सी के सहारे झूलती हुई मिली। फिर उसने इसकी जानकारी विवाहिता के पति समेत अन्य परिजनों को दी। इसके बाद देवली पुलिस मौके पहुंची और शव को नीचे उतारा। बाद में पुलिस ने देवली अस्पताल में शव का पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों के सुपुर्द कर दिया।

पुलिस के अनुसार अब तक की जांच में सामने आया कि विवाहिता गत दिनों हुए रीट परीक्षा के बाद से डिप्रेशन में थी। संभवत उसने मानसिक तनाव के चलते यह कदम उठाया है।