देर रात्रि तक चले कवि सम्मेलन में श्रोता डटे रहे, एक से बढ़कर एक रचनाओं की दी प्रस्तुति

 
In the poet's conference that lasted till late night, the audience stood, gave presentation of more than one compositions

टोंक/नोहटा/निवाई, (गणेश योगी)। पंच खंडपीठ पीठाधीश्वर श्री श्री शंकर गिरी जी महाराज के और राष्ट्रीय संत श्री हरि योगी जी के सानिध्य में पंचदेव की पावन भूमि नोहटा, निवाई टोंक में जेवीपी मीडिया ग्रुप की विशेष पहल पर स्वामी विवेकानंद जयंती के पावन अवसर पर 12 जनवरी को विशाल कवि सम्मेलन एवं भजन संध्या का आयोजन हुआ।  कार्यक्रम संयोजक हरिराम किंवाड़ा ने बताया कि कवि सम्मेलन में दिल्ली से आयी कवयित्री पूनम शर्मा ने गुरु महिमा का बखान करते हुए माता-पिता पर एक से बढ़कर एक रचनाओं की प्रस्तुति दी।

देर रात्रि तक चले कवि सम्मेलन में श्रोता डटे रहे, एक से बढ़कर एक रचनाओं की दी प्रस्तुति

देवनगरी दौसा से पधारे कवि कृष्ण कुमार सैनी ने देश के वीर जवानों को नमन करते हुए एक से बढ़कर एक प्रस्तुति दी। उनकी पंक्तियाँ ष्राजगुरु सुखदेव बन जा भगतसिंह, फांसी चूम दुनिया दीवानी बन जाएगीष् सुनकर श्रोताओं ने जमकर तालियाँ बटोरी। टोडारायसिंह के कवि दिनेश कुमार जैन ने गौ माता पर अपनी रचना प्रस्तुत कर गायों की दुर्दशा व वर्तमान हालातों का चित्रण किया।  झिलाय के कवि रमेश घायल और टीकाराम राजवंशी ने भी माता-पिता गुरुदेव, राष्ट्र सेवा, अलौकिक आचरण और अन्य समसामयिक विषयों पर काव्य पाठ किया।

राष्ट्रीय संत श्री हरि योगी जी महाराज ने भी अपनी कविताओं के माध्यम से श्रोताओं को हँसा हँसा कर लोटपोट कर दिया।  रात्रि 8रू00 बजे से 12रू00 बजे तक चले कवि सम्मेलन में एक से बढ़कर एक रचनाओं ने श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर दिया। भयंकर सर्दी के बावजूद भी श्रोता देर रात तक डटे रहे। आयोजक सदस्यों ने सभी कवियों व अतिथियों का स्मृति चिन्ह भेंटकर सम्मान किया। मंच संचालन जेवीपी मीडिया ग्रुप के निदेशक हरिराम किंवाड़ा ने किया।