अलीगढ़ में चोरों ने रात को एक मकान के कमरे का जंगला तोडकर दो लाइसेंसधारी बन्दूक सहित कपडों पर किया हाथ साफ

- अलीगढ़ थाने में मामला दर्ज होने के बाद एसएफएल टीम ने मौके पर पहुंचकर जुटाए साक्ष्य...
- अलीगढ़ थाना क्षेत्र में बढ़ती चोरियों से आमजन में बना हुआ है भय, पुलिस गश्त की खुलती पोल, पुलिस पस्त-चोर मस्त।
 
 अलीगढ़ थाना क्षेत्र में बढ़ती चोरिय

टोंक/अलीगढ़/उनियारा, (शिवराज मीना/मुजम्मिल सारण)। उनियारा उपखण्ड क्षेत्र में अलीगढ़ थानान्तर्गत डाक बंगला रोड के समीप बाईपास चौराहा अलीगढ़ स्थित एक मकान से शुक्रवार-शनिवार मध्य रात्रि के बाद अज्ञात चोर कमरे का जंगला तोडकर दो लाइसेन्सधारी बन्दूक सहित अन्य सामान कपडे आदि चुरा कर ले गए। पीड़ित परिजनों के बताए अनुसार क्षेत्रीय विधायक के हस्तक्षेप पर एफएसएल टीम ने मौके पर पहुंचकर साक्ष्य जुटाए। उसके बाद शनिवार देर रात्रि को पुलिस ने चोरी का मामला दर्ज किया। थानाधिकारी गोपाल सिंह राणावत मामले की जानकारी मीडिया को देने से कतराते रहे। यह एक मामला ही नहीं इससे पूर्व भी अलीगढ़ पुलिस द्वारा मीडिया को कई बार नजरअंदाज करने के मामले सामने आ चुके हैं। जिससे पुख्ता जानकारी नहीं मिलने पर मीडियाकर्मी भी असमंजस में रह जाते है।

जानकारी के अनुसार अलीगढ़ थाना पुलिस के सहायक उप निरीक्षक महावीर प्रसाद जाट ने रविवार को बताया कि पीड़ित परिवादी फूलचन्द पुत्र पृथ्वीराज मीणा निवासी अलीनगर हाल निवास पांच बत्ती-मुकुट सिंह बाईपास चौराहे के समीप अलीगढ़ के थाना हाजा में दर्ज परिवाद पर पुलिस ने शनिवार देर रात्रि 10:36 पीएम बजे चोरी का मामला दर्ज कर लिया है। जिसमें बताया गया है कि 8 अक्टूबर 2021 की रात्रि को प्रार्थी एवं उसका भाई मडडूलाल अपने परिवारजनों के साथ घर पर सो रहे थे, उसी दौरान प्रार्थी के भाई का लड़का जो बाहर सो रहा था, उसको सर्दी लगने पर वह उठकर मकान में सोने गया तो मकान का ताला खोलकर कमरे में अन्दर घुसा तो उसने बक्से सहित कमरे में रखे सामान को फैला हुआ देखा और कमरे के पीछे की दीवार का जंगला टूटा हुआ दिखाई दिया तो उसने परिजनों को आवाज देकर बुलाया कि अपने घर में चोरी हो गई है। परिवादी के अनुसार उक्त घटना शुक्रवार-शनिवार मध्य रात्रि  बाद तकरीबन रात्रि 3 बजे की है, जो शनिवार में 9 अक्टूबर की मान्य घटना है, जिस पर परिवादी तथा परिवारजनों ने अपने कमरे में जाकर देखा तो उसकी एक लाइसेंसधारी बम्दूक दो नाली लाइसेंस नम्बर 18-25/7/1997 व गन नम्बर 3130 खूंटी पर टंगी हुई गायब मिली, उसके बाद परिवादी व परिजनों ने उसके भाई मडडूलाल के कमरे में भी जाकर देखा तो बक्सा खुला हुआ मिला व कपड़े बिखरे हुए मिले तथा उसकी भी एक लाइसेंसधारी बन्दूक दो नाली जिसका लाइसेंस नम्बर 4263 व गन नम्बर डीबीएमएल गायब मिली, जिसकी सूचना पीडित ने अलीगढ़ थाने पर दी, जिस पर अलीगढ़ थाना पुलिस ने मौके पर पहुंचकर घटना की जानकारी जुटाई।

वहीं पीडित ने परिवाद में बताया कि उसने उनकी बन्दूक को मकान एवं खेतों में काफी तलाश किया, लेकिन कोई सुराग नहीं मिला। जिस पर पुलिस ने शनिवार सुबह चोरी का परिवाद दर्ज किया। वहीं मकान से दो बन्दूकों सहित अन्य सामानों के चोरी मामले की गंभीरता को देखते हुए बाद में क्षेत्रीय विधायक सहित उच्चाधिकारियों के निर्देश पर टोंक से एफएसएल टीम व उनियारा थानाप्रभारी ने भी घटनास्थल का मौका मुआयना कर मामले की जानकारी लेकर साक्ष्य जुटाये। जिसके बाद पुलिस ने शनिवार देर रात्रि को अज्ञात चोरों के खिलाफ धारा 457, 380 आईपीसी एक्ट में मामला दर्ज कर जांच एएसआई महावीर प्रसाद जाट को सौंपी गई है। वहीं मामला दर्ज होने पर पुलिस ने अनुसंधान शुरू कर दिया है।

अलीगढ़ थाना क्षेत्र में बढ़ रहा चोरियों का ग्राफ, चोरियों का खुलासा नहीं होने से चोरों के हौसले बुलंद
वहीं अलीगढ़ थाना क्षेत्र में आयेदिन बढ़ रही चोरियों की वारदातों से आमजन में भय का माहौल बना हुआ है, ऐसे में चोरियों का खुलासा नहीं होने से क्षेत्र में चोरों के हौसले दिनोंदिन बुलंद होते जा रहे हैं। आखिरकार  क्षेत्र में लगातार बढ़ती चोरियों से पुलिस गश्त की भी पोल खुलती नजर आ रही है। वहीं आपराधिक घटनाओं की जानकारी लेने पर थना पुलिस मीडियाकर्मियों को नजरअंदाज करती नजर आती है तथा अति आवश्यक मामलों व घटनाओं की जानकारी पर फोन तक भी अटेन्ड नहीं करती है। यह एक ही बार की स्थिति नहीं है इससे पूर्व भी अलीगढ़ थाना पुलिस द्वारा कई बार अधिकतर समय नजरअंदाज किया जा चुका है। जिससे आपराधिक घटनाओं की सूचना पुलिस तक नहीं पहुंच पाती है। जिससे मामलों की पुख्ता जानकारी नहीं मिलने पर मीडियाकर्मी भी असमंजस में रह जाते हैं।