मालपुरा उपखंड के लावा ग्राम पंचायत में प्रशासन गांवों के संग अभियान का हुआ आयोजन

- अधिकारी-कर्मचारी संवेदनशीलता से करें आमजन की समस्याओं का समय पर समाधान- चिन्मयी गोपाल जिला कलेक्टर
 
आमजन की समस्याओं का समय पर समाधान

टोंक,(शिवराज मीना) । प्रशासन गांवों के संग अभियान-2021 के दौरान सम्बंधित ग्राम पंचायत के शिविर में मौके पर ही अधिकतम लोगों को राहत मिल रही है। इसके लिए जिला कलेक्टर चिन्मयी गोपाल जिले में लगाए जा रहे शिविरों का निरीक्षण कर विभागों की तैयारियों का जायजा ले रही है।

 प्रशासन गांवों के संग अभियान

सोमवार को जिले के मालपुरा पंचायत समिति की ग्राम पंचायत लावा में आयोजित शिविर का जिला कलेक्टर ने निरीक्षण किया। जिला कलेक्टर ने मौके पर उपस्थित विभिन्न विभागों के अधिकारियों एवं कार्मिकों को संवेदनशीलता के साथ आमजन की समस्याओं का समाधान करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की मंशानुरूप अधिकाधिक लोगों को इन शिविरों के माध्यम से लाभान्वित किया जाए। उन्होंने विभिन्न विभागों के अधिकारियों को उनके विभाग से जुडें कार्याे केे प्राप्त आवेदनोें पर त्वरित कार्यवाही कर शिविर में निस्तारित करने को कहा। अधिकारी इस बात का प्रयास करें कि जो नागरिक शिविर में आता है, वह संतुष्ट होकर जांए। वहीं जिला कलेक्टर ने शिविर में विभिन्न विभागों की प्रगति की जानकारी ली। साथ ही मौके पर आमजन की समस्याओं कौ धैर्यपूर्वक सुना और संबंधित अधिकारियों को निस्तारण के निर्देश दिए।

जिला कलेक्टर के समक्ष ग्रामवासियों ने लावा-सोडा दरवाजा से सोहनी बालाजी रास्ते से अतिक्रमण हटाने, लावा से राखुनाडा रास्ते से अतिक्रमण हटाने, राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय के प्रधानाध्यापक ने विद्यालय व खेल मैदान के लिए आवंटित भूमि में रकबा परिवर्तन कराकर सीमाज्ञान कराने के प्रार्थना पत्र दिए। जिला कलेक्टर ने तहसीलदार प्रहलाद सिंह को तीनों प्रकरणों पर कार्यवाही करने के लिए निर्देशित किया। तहसीलदार ने शिविर की प्रगति रिपोर्ट देते हुए कि बंटवारे के 31, शुद्धि पत्र के 87, नामान्तरण के 210, नकल के 228 प्रकरणों का निस्तारण किया गया है। आबादी विस्तार के 3 प्रस्ताव प्राप्त हुए है।

शिविर में दिव्यांग रतिराम को मिला पट्टा

दिव्यांग रतिराम के लिए प्रशासन गांवों के संग अभियान वरदान बनकर आया। मालपुरा पंचायत समिति की ग्राम पंचायत लावा में जिला कलेक्टर चिन्मयी गोपाल के समक्ष रतिराम खटीक पुत्र भंवरलाल खटीक अपनी पीडा लेकर पहुंचा। लेकिन शारीरिक विकलांगता के कारण वह ठीक से अपनी पीडा भी नहीं बता पा रहा था। ग्रामीण ने ही उसकी पीडा की जानकारी जिला कलेक्टर को बताई। ग्रामीणों ने बताया कि रतिराम के पास रहने के लिए कोई जगह नहीं है। जिस पर जिला कलेक्टर ने उसके दुख दर्द को समझते हुए पंचायत समिति विकास अधिकारी सतपाल कुमावत को मौके पर ही समस्या का निस्तारण करने के निर्देश दिए। बीडीओ सतपाल कुमावत द्वारा रतिराम को ग्राम पंचायत भूमि आवंटन का पट्टा दिया गया।

 जिला कलेक्टर ने पहल करते हुए रतिराम का घर बनाने के लिए स्वयं 5 हजार रूपये दिए।  इसके बाद वहां मौजूद पंचायत समिति प्रधान सकराम चौपाडा ने 5 हजार, जिला परिषद सदस्य छोगाराम गुर्जर ने 5 हजार, उपखण्ड अधिकारी ने 5 हजार रूपये, तहसीलदार, विकास अधिकारी अन्य अधिकारियों तथा श्री संयुक्त व्यापार मण्डल के सहयोग से एक लाख से ऊपर राशि एकत्र कर ली गई। रतिराम का भूमि आवंटन एवं घर बनाने की राशि मिल जाने पर उसकी खुशी का ठिकाना न रहा, जो कि उसके चेहरे और आंखो में दिख रही थी। उसने जिला कलेक्टर एवं राज्य सरकार का आभार व्यक्त किया।