बाल हिंसा व जेण्डर मुद्दों पर युवाओं को दिया प्रशिक्षण, बचाव के उपाय व इससे जुड़े कानूनों की जानकारी दी

 
Training given to the youth on child violence and gender issues, preventive measures and laws related to it
टोंक। शिव शिक्षा समिति रानोली द्वारा यूनिसेफ के सहयोग से संचालित युवा पहल परियोजना (Youth initiative project run by Shiv Shiksha Samiti Ranoli in collaboration with UNICEF) के तहत राजकीय कन्या महाविद्यालय टोंक में राष्ट्रीय सेवा योजना (National Service Scheme in Government Girls College Tonk) एवं महिला प्रकोष्ठ के सयुंक्त तत्वाधान में एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया।  परियोजना अधिकारी सीताराम शर्मा ने बालिकाओं को हिंसा एवं उसके प्रकार उससे बचाव के उपाय व इससे जुड़े कानूनों की जानकारी प्रदान की।  

महाविद्यालय प्राचार्य डॉक्टर इ.ए. हैदरी ने बालिकाओं को आत्मविश्वास में वृद्धि करने एवं सत्य बोलने के लिए प्रेरित किया। राष्ट्रीय सेवा योजना अधिकारी डॉ राखी सिंह ने बालिकाओं को बताया कि महिलाओं में अपराधियों को पहचानने को लेकर विशेष क्षमता  होती है। जब भी हमें कोई व्यक्ति गलत निगाह से देखता है तो एहसास हो जाता है कि की भावना गलत है या कैसी है हमें उस भावना को पहचान कर हमेशा गलत का विरोध करना है एवं गलत स्पर्श को ना कहना है कार्यशाला के पश्चात सांप्रदायिक सद्भावना रैली का आयोजन किया गया। 

महाविद्यालय प्राचार्य डॉ. हैदरी ने हरी झंडी दिखा कर रैली को रवाना किया। डॉ. गीता मीणा एवं डॉ. राखी सिंह के नेतृत्व में बालिकाओं ने सांप्रदायिक सद्भावना सप्ताह के तहत महाविद्यालय प्रांगण से पास की कॉलोनियों में रैली निकाल कर कोमी एकता बनाये रखने का सन्देश दिया। कार्यक्रम के दौरान प्रोफेसर एस.एन.खींची, डॉ अर्चना आनंद, डॉक्टर पियूष पारीख, श्रीमती प्रीति जैन व शिव शिक्षा समिति से पूनम जोनवाल राहुल गजरा निसार अहमद व कमलेश मीणा उपस्थित रहे।