टोंक : बजरी माफियाओं ने पत्रकार पर ट्रैक्टर-ट्रोली से कुचलने का किया प्रयास

- उनियारा उपखण्ड क्षेत्र में इन दिनों अवैध बजरी खनन-परिवहन सहित अपराधो पर नहीं हैं कोई अंकुश.... 
 
Tonk: Gravel mafia tried to crush journalist with tractor-trolley

टोंक/बनेठा/उनियारा। जिले के बनेठा थाना क्षेत्र में अवैध बजरी खनन व परिवहन का गोरखधंधा (Illegal gravel mining and transport racket) रूकने का नाम नहीं ले रहा है, जहां आयेंदिन बजरी माफियाओं के साथ मिलीभगत व चौथवसूली (collusion and fourth recovery) के मामले लगातार सामने आ रहे हैं तथा खुलेआम अवैध बजरी परिवहन के नजारे रात-दिन देखने को मिल रहे हैं। ऐसा ही एक मामला बनेठा थाना क्षेत्र में देखने को मिला हैं। जहां बजरी माफियाओं ने अपने वाहनों में ट्रैक्टर-ट्रॉली, डम्पर द्वारा ढिकोलिया व बनेठा सड़क मार्ग पर रूपपुरा पुलिया के पास एक पत्रकार को कुचलने का प्रयास किया गया है, जिसके संबंध में पीड़ित पत्रकार ने बनेठा थाना में अज्ञात बजरी माफियाओं के विरूद्ध रिपोर्ट दर्ज करवाई है। 

थाना प्रभारी हेमराज मीणा उप निरीक्षक एवं पीड़ित परिवादी पत्रकार बाबूलाल मीणा निवासी फतेहगंज (परास्या) से मिली जानकारी के अनुसार पीड़ित पत्रकार ने इलाज के बाद एक रिपोर्ट पेश की, जिसमें बताया कि 9 नवम्बर बुधवार की अलसुबह अन्य दिनों की भांति अपने गांव फतेहगंज (परास्या) से सुबह के समय 5 से 6 बजे करीब मॉर्निंग वॉक व बनेठा स्थित दुकान मकान की साफ-सफाई करने के लिए अपनी मोटरसाईकिल से बनेठा कस्बा आ रहा था। इसी दौरान ढिकोलिया-सूंथडा-बनेठा सड़क मार्ग पर रूपपुरा पुलिया के पास सामने बनेठा की तरफ से आ रहे तीन से चार बजरी भरे ट्रैक्टर-ट्रॉली व पीछे एक डम्पर जो कि ढिकोलिया-सूंथडा की तरफ जा रहे थे, जिनका पत्रकार ने अपनी खबर कवरेज के लिए वीडियो व फोटो बनाने का प्रयास किया तो बजरी माफियाओं ने को लाईट के उजाले में सामने से बजरी भरे वाहनों से कुचलने का प्रयास किया। 

 लेकिन पत्रकार ने अपने आपको संभालते हुए बाईक से गिरकर पुलिया के नीचे कूदकर जान बचाई, अन्यथा बजरी माफिया को जान से मार देते। अंधेरे की वजह से पीडित बजरी माफियाओं को पहचान नहीं पाया। बजरी माफिया अपने वाहनों को लेकर सूंथडा-सूंथडा-ढिकोलिया रोड की तरफ भगा ले गए, जिससे घटना में पीडित के चेहरे व शरीर सहित हाथ पैरों में जगह-जगह खरोचें व अंदरूनी चोटें आई है तथा पीडित का मोबाईल फोन सहित मोटरसाईकिल भी क्षतिग्रस्त हो गई है, जो एक बड़ा हादसा होते बाल-बाल टल गया। 

गौरतलब है कि पत्रकार द्वारा बनेठा थाना क्षेत्र में बनास नदी से अवैध बजरी खनन व परिवहन सहित क्षेत्र की अन्य आपराधिक मामलों के घटनाओं की खबरें प्रकाशित करने की वजह से बनेठा पुलिस की मिलीभगत होने के चलते माफियाओं ने पीडित के साथ यह घटना करने की कोशिश की है। पीडित ने पुलिस प्रशासन से कड़ी कार्यवाही की मांग कि है। पीड़ित ने मौके से ही बनेठा कस्बा के अपने एक पत्रकार साथी को मोबाईल फोन करके पूरा घटनाक्रम बताया। जिसके बाद पीडित ने अपना ईलाज करवाकर गुरूवार शाम को पुलिस थाना बनेठा पहुंचकर रिपोर्ट पेश की। जिस पर पुलिस ने अज्ञात बजरी माफियाओं के विरूद्ध अपराध धारा 279, 336 व 337 आईपीसी के तहत प्रकरण दर्ज कर जांच तफ्तीश शिवकुमार हैड कॉन्स्टेबल के जिम्मे दी गई है, जिस पर अनुसंधान शुरू कर दिया गया है।  वहीं घटना को लेकर विभिन्न पत्रकार संगठनों ने घटना की कड़ी निंदा करते हुए पुलिस प्रशासन से त्वरित कार्यवाही की मांग की है।