शिक्षा व संस्कृति के लिए 11 लाख रुपए के समर्पण का संकल्प, किंवाड़ा सरकारी विद्यालय में विद्यार्थियों को बैग वितरण से शुरुआत

- राष्ट्रपति अवॉर्डी डॉ. गणेश नारायण गुरुजी एडीएम प्रभाती लाल जाट रहे विशेष मेहमान 
- हरिराम किंवाड़ा के सेवा कार्यों की अनूठी पहल 
 
Pledge to surrender Rs 11 lakh for education and culture, starting with distribution of bags to students in Kinwada Government School
टोंक/निवाइ/किंवाड़ा, (गणेश योगी)। शिक्षा, सेवा और संस्कृति के लिए विश्व प्रसिद्ध श्री रालाबाबा धाम किंवाड़ा (World famous Shri Ralababa Dham Kinwada for education, service and culture) के सरकारी उच्च प्राथमिक विद्यालय में विद्यार्थियों को बैग वितरण के साथ में 11 लाख रुपए के सेवा कार्यों की शुरुआत (Start of service works worth Rs 11 lakh) की गई। इस अवसर पर राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री से शील्ड अवॉर्डी डॉ. गणेश नारायण गुरुजी, अतिरिक्त जिला कलेक्टर प्रभाती लाल जाट और जेवीपी मीडिया ग्रुप के चेयरमैन व मेघालय यूनिवर्सिटी की फाइनेंस कमेटी के मेंबर हरिराम किंवाड़ा के साथ एस एम सी अध्यक्ष हनुमान प्रसाद जाट, प्रधानाध्यापक मनोज कुमार, स्टाफ साथी एवं ग्रामीण जन मौजूद रहे। 

उल्लेखनीय है कि गाय न्याय और सच्चाई के लिए अमर बलिदानी लोकदेव श्री रालाबाबा की विजय रणभूमि में संत प्रकाश दास जी के सानिध्य में आयोजित श्री सुरभि गोपाल महायज्ञ एवं आध्यात्मिक महोत्सव के अवसर पर हरिराम किंवाड़ा ने मां जमना देवी और मेघालय के राज्यपाल सत्यपाल मलिक की प्रेरणा से शिक्षा, धर्म और संस्कृति के विभिन्न रचनात्मक कार्यक्रमों के लिए ग्यारह लाख रुपए के समर्पण का संकल्प श्रीमद् दादू पीठाधीश्वर गोपाल दास जी महाराज, महंत बक्शी राम जी महाराज और संत महापुरुषों व हजारों जनसमुदाय उपस्थिति में लिया है, जिसे 11 महीने में पूरा कर लिया जाएगा। यह राशि गौशाला, स्कूल, धार्मिक स्थल एवं कला संस्कृति के रचनात्मक कार्यक्रमों में किया जाएगा। 

 किंवाड़ा के सेवा कार्यों की पहल के लिए गुरुजी गणेश नारायण जी ने आशीर्वाद दिया और एडीएम प्रभाती लाल जाट ने ऐसे कार्यक्रमों से प्रेरणा लेकर गांव गांव में शिक्षा की अलख जगाने का आव्हान किया। इस अवसर पर विद्यालय छात्र छात्राओं ने जीवन में सफल होकर समाज व राष्ट्र की सेवा का संकल्प लिया।  स्कूल स्टाफ ने भी ईमानदारी पूर्वक अध्यापन कार्य की प्रतिबद्धता दोहराई।