मुख्यमंत्री गहलोत ने उनियारा पुलिस उपाधीक्षक शकील अहमद को पुलिस पदक पुरस्कार से किया सम्मानित

 - उनियारा डिप्टी एसपी शकील अहमद खान ने पुलिस पदक प्राप्त कर टोंक जिला पुलिस का बढ़ाया मान
 
Chief Minister Gehlot honored Uniara Deputy Superintendent of Police Shakeel Ahmed with Police Medal Award

टोंक/जयपुर/उनियारा,(शिवराज मीना/मुजम्मिल सारण)। राजस्थान पुलिस स्थापना दिवस (Rajasthan Police Raising Day) के अवसर पर राजस्थान पुलिस अकादमी जयपुर (Rajasthan Police Academy Jaipur) में शनिवार को आयोजित पुलिस सम्मान समारोह (Police Honor Ceremony) में टोंक जिले के उनियारा वृत क्षेत्र में नियुक्त पुलिस उप अधीक्षक शकील अहमद खान (Deputy Superintendent of Police Shakeel Ahmed Khan appointed in Uniara circle area) को राजस्थान पुलिस सेवा में उत्कृष्ट कार्य व बेदाग राजकीय सेवा करने पर मुुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा पुलिस पदक प्रदान कर सम्मानित किया गया।

टोंक जिला पुलिस का नाम रोशन करते हुए उनियारा पुलिस उप अधीक्षक शकील अहमद खान को राजस्थान के मुुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा पुलिस महानिदेशक एम.एल. लाठर की मौजूदगी में पुलिस पदक से नवाज़ा है। 

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा उनियारा पुलिस उपाधीक्षक शकील अहमद खान को पुलिस पदक पुरस्कार से सम्मानित किए जाने पर टोंक जिला सहित उनियारा उपखण्ड़ क्षेेत्र के राजनीतिक दलों के पदाधिकारियों व सामाजिक संगठनों से जुड़े पदाधिकारियों अन्य समाजसेवी तथा अन्य लोगों द्वारा उनियारा पुलिस उपाधीक्षक शकील अहमद खान को बधाई देते हुए शुभकामनाएं दी है। 

गौरतलब है कि एक ओर जहां राजस्थान पुलिस की कार्यशैली को लेकर आमजन में अलग-अलग विचारधारा बनी हुई है। वहीं कुछ पुलिस अधिकारी व पुलिसकर्मी ऐसे भी है, जिन्होंने अपनी राजकीय सेवा के दौरान अपने परिवार के साथ अपने पुलिस विभाग का भी मान सम्मान बढ़ाया है। ऐसा ही उदाहरण टोंक जिला पुलिस में उनियारा पुलिस उपाधीक्षक शकील अहमद खान ने कर दिखाया। 

शनिवार को राजस्थान पुलिस अकादमी जयपुर में राजस्थान पुलिस दिवस के अवसर पर आयोजित पुलिस सम्मान समारोह में उनियारा पुलिस उपाधीक्षक शकील अहमद को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा सम्मानित कर पुलिस पदक प्रदान किया गया है। यह पदक 20 वर्ष से अधिक की बेदाग सेवा पर राष्ट्रपति द्वारा उत्कृष्ट सेवा के लिए प्रदत पुलिस पदक प्रदान किया जाता हैं। 

उल्लेखनीय है कि उनियारा पुलिस उपाधीक्षक के पद पर कार्यरत शकील अहमद खान का जन्म 30 जनवरी 1974 को हुआ था। पुलिस विभाग में उनकी प्रथम नियुक्ति 20 नवम्बर 1997 को पुलिस उप निरीक्षक के पद पर हुई। उन्होंने इस दौरान जिला टोंक, जयपुर, मुख्यमंत्री निवास आदि स्थानों पर ड्यूटी को अंजाम दिया। वहीं 2008 में पुलिस निरीक्षक पद पर पदोन्नति के पश्चात मुख्यमंत्री निवास पर सुरक्षा में भी तैनात रहे। साथ ही जिला दौसा में भी ड्यूटी को अंजाम दिया। इसके पश्चात पुलिस मुख्यालय जयपुर में उच्चाधिकारियों (राजीव दासोत, ओ.पी. गल्होत्रा, सौरभ श्रीवास्तव, अमृत कलश, जी. एल. शर्मा, सचिन मित्तल आदि के स्टाफ में शकील अहमद खान ने ऑफिसर के रूप में कार्य किया। उनके कार्य को देखते हुए इसके पश्चात राजभवन में राज्यपाल की सुरक्षा ड्यूटी में तैनात रहे। 

उसके बाद राजस्थान पुलिस अकादमी, जयपुर में दो वर्ष तक संचित निरीक्षक (प्रशासन) के पद पर भी कार्यरत रहे। वहीं इस दौरान शकिल अहमद ने अकादमी को पूरे भारत में नम्बर 1 रैंक की अकादमी बनाने में विशेष योगदान दिया। वर्ष 2020 में पुुुलिस उपाधीक्षक के पद पर पदोन्नत होकर अकादमी के उपाधीक्षक (प्रशासन) के पद पर कार्य किया। जनवरी 2021 से सवाईमाधोपुर में उपाधीक्षक (अनु.जाति/जनजाति अत्याचार निवारण प्रकोष्ठ) के पद पर कार्य किया। वहीं 22 दिसम्बर 2021 से टोंक जिले में उनियारा पुलिस उपाधीक्षक उनियारा के पद पर लगातर अपनी ड्यूटी व राजकीय सेवा पर हैं। पूर्व में भी उनियारा पुलिस उपाधीक्षक के पद पर कार्यरत शकील अहमद कई पदक, स्मृति चिन्ह नवाजा जा चुका है। 

पुलिस उपाधीक्षक शकील अहमद को वर्ष 2011 में उत्तम सेवा चिन्ह, 2015 में अति उत्तम सेवा चिन्ह, 2020 में केंद्रीय गृह मंत्री द्वारा प्रदत्त उत्कृष्ट सेवा पदक, फिर 2020 में राष्ट्रपति द्वारा प्रदत्त पुलिस पदक इसके अलावा 100 से अधिक नकद पुरस्कार व प्रशंसा पत्र अब तक मिल चुके हैं। वहीं अब शनिवार 16 अप्रैल 2022 को राजस्थान पुलिस अकादमी में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा सम्मानित कर पुलिस पदक प्रदान किया गया है।