टोंक ACB की निवाई में बड़ी कार्यवाही, उप पंजीयक कार्यालय का वरिष्ठ सहायक 11500 रूपये की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार

- एसीबी टीम द्वारा आरोपी के आवास व अन्य ठिकानों पर सर्च तलाश जारी 
 
Big action in the proceedings of Tonk ACB, senior assistant of Deputy Registrar's office arrested red handed taking bribe of Rs 11500
टोंक, (शिवराज मीना)। एसीबी मुख्यालय राजस्थान जयपुर के निर्देशानुसार भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो टोंक (Anti Corruption Bureau Tonk) इकाई द्वारा सोमवार को ट्रैप कार्यवाही (trap action) करते हुए टोंक जिले के निवाई उप पंजीयक कार्यालय के वरिष्ठ सहायक (रीडर) कमलेश मीणा (Niwai Deputy Registrar Office Senior Assistant (Reader) Kamlesh Meena) को परिवादी से 11500 रूपये की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार (Arrested red handed taking bribe of Rs 11500) किया है।

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो राजस्थान के महानिदेशक भगवान लाल सोनी ने सोमवार को जानकारी में बताया कि एसीबी टोंक इकाई को एक परिवादी द्वारा शिकायत दी गई कि उसके दो मकान की रजिस्ट्री राशि करीब 30 लाख रूपए करवाने की एवज में कुल राशि के आधा प्रतिशत कमीशन के हिसाब से कमलेश मीणा वरिष्ठ सहायक (रीडर) कार्यालय उप पंजीयक निवाई जिला टोंक द्वारा परिवादी से 15000 रूपये की रिश्वत राशि मांगकर परेशान किया जा रहा है, जिस पर एसीबी जयपुर के उपमहानिरीक्षक पुलिस सवाई सिंह गोदारा के सुपरविजन में एसीबी टोंक इकाई के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजेश आर्य के नेतृत्व में टीम द्वारा शिकायत का सत्यापन किया गया। 

शिकायत का सत्यापन सही पाया जाने पर सोमवार को मय टीम द्वारा ट्रैप कार्यवाही को अंजाम देते हुए कमलेश मीणा निवासी लाडपुरा कॉलोनी टोडारायसिंह जिला टोंक हाल वरिष्ठ सहायक (रीडर) कार्यालय उप पंजीयक निवाई टोंक को परिवादी से 11500 रूपये की रिश्वत राशि लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। एसीबी मुख्यालय राजस्थान जयपुर के अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस दिनेश एमएन के निर्देशन में टोंक एसीबी टीम द्वारा पूछताछ जारी है। एसीबी द्वारा मामले में भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के अन्तर्गत प्रकरण दर्ज कर अग्रिम अनुसंधान किया जाएगा।