टोडारायसिंह पालिका चेयरमैन व निजी PA को डेढ़ लाख रुपए की रिश्वत लेते ACB ने किया रंगे हाथों गिरफ्तार

- एक कॉलोनाइजर को कॉलोनी काटने के नाम पर परेशान नहीं करने की एवज में मांगी गई थी रिश्वत राशि
 
ACB arrested red handed taking bribe of 1.5 lakh rupees to Todarai Singh Palika Chairman Private PA

टोंक, (शिवराज मीना)। भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो टोंक इकाई की टीम (Team of Anti-Corruption Bureau Tonk Unit) में कार्यवाही करते हुए टोडारायसिंह नगर पालिका चेयरमैन व रेन बसेरा कर्मी (प्राइवेट) को डेढ़ लाख रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार (Arrested red handed taking bribe of 1.5 lakh rupees) किया है। आरोपियों के आवास व अन्य ठिकानों पर सर्च ऑपरेशन जारी है। टोडारायसिंह में काटी गई कॉलोनी में किसी प्रकार का विवाद नहीं करवाने की एवज में पालिका चेयरमैन भरत लाल सैनी द्वारा अपने निजी पीए दिनेश सैनी के मार्फत साड़े तीन लाख रूपये रिश्वत की मांग कर परेशान कर रहा था।

ACB के महानिदेशक बीएल सोनी ने बताया कि ACB टोंक इकाई को परिवादी द्वारा शिकायत दी गई थी कि हमारे द्वारा ग्राम रतवा तहसील टोंक टोडारायसिंह में काटी जाने वाली कॉलोनी में किसी प्रकार का कोई विवाद नहीं करवाने की एवज में पालिका चेयरमैन भरत लाल सैनी द्वारा अपने निजी पीए दिनेश सैनी के मार्फत 3.5 लाख रूपये की रिश्वत की मांग कर परेशान कर रहा है।

 इस पर ACB अजमेर के उपमहानिरीक्षक समीर कुमार के निर्देशन में टोंक इकाई के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजेश आर्य के नेतृत्व में शिकायत का सत्यापन किया जाकर मय टीम के आज तहसील ट्रेप कार्यवाही करते हुए भरत लाल सैनी निवासी वार्ड नंबर 2 बीओबी बैंक के सामने टोडारायसिंह जिला टोंक हाल चेयरमैन नगरपालिका टोडारायसिंह जिला टोंक तथा दिनेश कुमार सैनी निवासी टोडारायसिंह जिला टोंक को परिवादी से 1लाख पचास हार रूपये रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया।

उल्लेखनीय है कि आरोपियों द्वारा परिवादी से 20 हजार रूपये रिश्वत राशि पूर्व में ही सत्यापन के दौरान वसूल की गई थी। एसीबी के उपमहानिरीक्षक सवाई सिंह गोदारा के निर्देशन में आरोपियों के आवास व अन्य ठिकानों पर सर्च ऑपरेशन जारी है। एसीबी द्वारा मामले में भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के अंतर्गत प्रकरण दर्ज कर अग्रिम अनुसंधान किया जा रहा है।