REET परीक्षार्थियों को न हो कोई परेशानी, शासन की ओर से किये विशेष इंतजाम

 
Reet
आगामी 26 सितंबर को राजस्थान मे आयोजित हो रही रीट परीक्षा को लेकर अजमेर जिला प्रशासन ने तैयारियों को अंतिम रूप देना शुरू कर दिया। जिला कलेक्टर प्रकाश राजपुरोहित द्वारा खुद मॉनिटरिंग कर रहे है। रीट अभ्यर्थियों को आवागमन में परेशानी न हो इस लिए अजमेर जिला प्रशासन ने राजस्थान रोडवेज और परिवहन विभाग के साथ मिलके योजना बनाई। इस योजना के तहत रीट अभ्यर्थियों के लिए 280 बसों का संचालन किए जाना योजना है। जिसमें से 135 बसे राजस्थान रोडवेज की होंगी। जबकि शेष बसों का संचालन परिवहन विभाग की तरह से निजी बस संचालकों के सहयोग से होगा। कलेक्टर प्रकाश राजपुरोहित के मुताबिक राजस्थान अध्यापक पात्रता परीक्षा में आने वाले अभ्यर्थियों के लिए अजमेर शहर में तीन अस्थाई बस स्टैंड संचालित करने का निर्णय लिया गया है।

यह बस स्टैंड हजारी बाग़, सात पिपली बालाजी और रीजनल कॉलेज तिराहे पर स्थापित किए जा रहे हैं। इन तीनो स्थानों पर प्रशासनिक कैंप भी स्थापित किये जा रहे है। यहा तैनात कार्यपालक मजिस्ट्रेट यह सुनिश्चित करेंगे अभ्यर्थियों की भारी भीड़ की वजह से कोई अव्यवस्था न हो। अजमेर जिला प्रशासन द्वारा नगरीय वाहन चालकों को हिदायत दी गई कि रीट अभ्यर्थियों से ज्यादा किराया न लिया जाए। नगरीय वाहनों पर निगरानी के लिए परिवहन विभाग को पाबन्द कर तय किया गया कि परीक्षा वाले दिन दिन परिवहन विभाग के उड़न दस्ते गश्त पर रहेंगे।

नगरीय वाहनों पर नजर रखेंगे। जहां कहीं से भी ज्यादा किराया वसूलने की शिकायतें आने पर परिवहन विभाग सम्बन्धित के खिलाफ कार्यवाही करेगा। कलेक्टर प्रकाश राजपुरोहित के मुताबिक राज्य सरकार की मंशा के अनुरूप  ही रीट अभ्यर्थियों की सुविधा के लिए कार्यपालक मजिस्ट्रेट की तैनात की गयी। केंद्रीय रोडवेज बस स्टैंड पर एसडीम महावीर सिंह, रीजनल कॉलेज अस्थाई बस स्टैंड पर अनुपमा टेलर, सात पिली बालाजी बस स्टैंड पर भगवत सिंह राठौर, हजारी बाग़ बस स्टैंड पर तारामणि वैष्णव और अजमेर रेलवे स्टेशन पर अशोक कुमार चौधरी को कार्यपालक मजिस्ट्रेट नियुक्त किया गया है।