उदयपुर थाने में तैनात हेड कानिस्टेबल को साथी पुलिसकर्मियों ने नंगा कर नचाया,की गाली-गलौज

 
तैनात हेड कानिस्टेबल को साथी पुलिसकर्मियों ने नंगा कर नचाया

उदयपुर। जिले के प्रतापनगर थाने के एक हेड कानिस्टेबल ने थाने के ही 5 पुलिस जवानों पर गंभीर आरोप लगाए हैं। आरोप है कि साथी पुलिसकर्मियों ने उसके ही क्वार्टर पर बिना कपड़ों के नचाया। रिपोर्ट लिखने की बात पर जान से मारने की धमकी दी। वहीं, मामला सामने आने के बाद पांच पुलिसकर्मियों को लाइन हाजिर कर दिया गया है।

थाने के हेड कानिस्टेबल ने बताया कि बुधवार देर रात उसके क्वार्टर में घुसकर थाने के कानिस्टेबल हरिकिशन, नंदकिशोर, कैलाश विश्नोई, हेड कानिस्टेबल जगदीश, कानिस्टेबल अचलाराम ने उसे डरा-धमका कर कपड़े उतार दिए। मारपीट करते हुए अश्लील हरकत की। इसके बाद सभी पुलिसकर्मियों ने जातिगत गाली-गलौज करते हुए जान से मारने की धमकी दी। आरोप है कि जब वह थाने में रिपोर्ट लिखवाने गया तब पुलिस के इन जवानों ने उसे जान से मारने की धमकी देते हुए रिपोर्ट लिखने से मना कर दिया। पुलिसकर्मी के साथ हुई मारपीट की घटना के सामने आने के बाद थाने में कोहराम मच गया है। जांच में सामने आया है कि पीड़ित हेड कानिस्टेबल और कानिस्टेबल अचलाराम के बीच कुछ दिन पहले कहासुनी हुई थी।

हेड कानिस्टेबल ने थाने के एसएचओ विवेक राव को मामले की लिखित रिपोर्ट सौप दी है। आरोप है कि उन्होंने भी कुछ ध्यान नहीं दिया। विवेक राव का कहना है कि इस मामले में बुधवार देर रात जांच के निर्देश दे दिए थे। जांच के बाद ही कुछ कहा जा सकेगा। वहीं मामले को लेकर आला पुलिस अधिकारी भी बोलने से कतरा रहे हैं।

मामला सामने आने के बाद सभी 5 पुलिसकर्मियों को थाने से पुलिस लाइन में लगा दिया गया है। शाम को सिटी एएसपी गोपाल स्वरूप मेवाड़ा ने आदेश जारी किए। प्राथमिक जांच और अनुसंधान पूर्ण होने तक सभी की ड्यूटी लाइन में रहेगी। पुलिस उपाधीक्षक राजीव जोशी को इसकी जांच सौंपी गई है। वहीं जातिगत गाली-गलौच की भी एससी-एसटी सेल के पुलिस उपाधीक्षक अलग से जांच कर रहे हैं।

हेड कानिस्टेबल के आरोपों पर पुलिसकर्मियों का कहना है कि उन्होंने किसी पुलिसकर्मी के साथ मारपीट नहीं की। हेड कानिस्टेबल व्यक्तिगत द्वेषता निकालने के लिए झूंठे आरोप लगा रहा है। जांच के बाद जो भी सच होगा सामने आजाएगा।