सवाई माधोपुर जिले के 19 थानों में 12 बजे से 1ः 30 तक थानाधिकारी करेंगे जनसुनवाई

- बौंली थानाधिकारी कुसुमलता मीना ने 1ः 30 बजे तक जनसुनवाई कर 5 का निस्तारण किया
 
Police officers will conduct public hearing in 19 police stations of Sawai Madhopur district from 12 noon to 1:30 pm
सवाई माधोपुर, (राकेश चौधरी)। जिले में अगर आप पुलिस और अपराधियों से पीड़ित है या आपकी जानकारी में कहीं कोई अवैध काम हो रहा है। तो इसकी शिकायत सीधे थाना प्रभारी से कर सकते हैं। इसके लिए अब जिले के हर थाने में थाना प्रभारी नियमित तौर पर जनसुनवाई करेंगे (Station in-charge will regularly hold public hearings in every police station of the district)। डीजीपी उमेश मिश्रा ने 15 नवंबर को प्रदेश के सभी जिला एसपी और आईजी को कार्य दिवस के दौरान रोजाना 12 से 1ः30 तक थाने में जनसुनवाई करने के निर्देश दिए हैं।

जिला पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार बिश्नोई ने इस संबंध में आदेश जारी कर सभी थाना प्रभारियों को नियमित तौर पर जनसुनवाई करने के निर्देश दिए हैं। जनसुनवाई में थाना प्रभारियों की ओर से पीड़ित पक्ष की समस्याओं को सुनकर के उनके निस्तारण करने के प्रयास किए जाएं। थानो में नियमित तौर पर दिन में दोपहर 12 बजे से दोपहर 1ः30 बजे तक थाना प्रभारियों की जनसुनवाई का समय रहेगा, इतना ही नहीं हर थाने में थाना प्रभारी द्वारा होने वाली जनसुनवाई के लिए एक रजिस्टर भी रखा जायेगा, जिसमे की थाना प्रभारी रोजाना जनसुनवाई के दौरान के कितने परिवादियो को सुने और कितनो को संतष्ट किया गया इसका आंकड़ा रखा जायेगा और प्रगति रिपोर्ट से जिला पुलिस अधीक्षक कार्यालय को अवगत कराया जाएगा।

जिले के बौंली, मित्रपुरा, कोतवाली, मलारना डूंगर, महिला थाना सहित लगभग सभी 19 थानों में थाना प्रभारियों ने जनसुनवाई शुरू कर दी है। मंगलवार बौंली थानाधिकारी कुसुमलता मीना ने 1ः 30 बजे तक जन सुनवाई कर 5 का निस्तारण किया। 

थानाधिकारी थाने में ही रहेंगे मोजूद
दोपहर 12 से 1ः 30 बजे तक कोई भी थाना प्रभारी किसी भी सूरत में थाना नहीं छोड़ेगा अगर कोई थाने से बाहर जाता है तो उसके लिए वाजिब कारण होना चाहिए। इस समय के दौरान थाना प्रभारी सिर्फ राजकार्य, कानून व्यवस्था की आपात स्थिति के अलावा थाने पर ही रहेंगे। जन सुनवाई के लिए संधारण किए जाने वाले रजिस्टर में थाने और थाना प्रभारी का नाम दर्ज होना, साथ ही जनसुनवाई में आने वाले आगंतुकों का नाम पता मोबाइल नंबर दर्ज किए जाएंगे। शिकायत या परिवार का संक्षिप्त विवरण और परिवाद पर की गयी कार्यवाही का विवरण दर्ज होगा।