19 वर्षीय युवक ने फांसी लगाकर की आत्महत्या,सुसाइड नोट में 4 लोगो को बताया मौत का जिम्मेदार

 
मृतक हरिशंकर

सवाई माधोपुर, (राकेश चौधरी)।  मित्रपुरा तहसील के नजदीकी नानतोड़ी गाँव मे बुधवार रात को एक युवक ने फांसी का फंदा लगाकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली ।

जानकारी के अनुसार मृतक हरिशंकर (19) रात को खाना खा कर के अपने कमरे में सोने के लिए चला गया। गुरुवार सुबह मृतक की माँ ने चाय के लिए कमरे में बुलाने के लिए गयी थी कमरे का दरवाजा अंदर से बंद था,दरवाजा बजाने के बाद भी अंदर से कोई आवाज नहीं आयी तो मृतक के नम्बर पर फोन मिलाया, लेकिन फोन भी बंद था।  उसके बाद पड़ोस में रहने वाले युवक को बुलाया और कमरे में लगी सीमेंट की जाली को तुडवाया और अंदर देखा तो मृतक हरिशंकर फाँसी के फंदे से लटका मिला। जिसको देखर माँ व परिवार के लोग की जोर जोर रोने व चिल्लाने की आवाज सुनकर ग्रामीण भी मौके पर पहुँच ।

उसके बाद मित्रपुरा पुलिस को सुचना दी गयी,मोके पर पुलिस पहुचने के बाद शव को मित्रपुरा सीएचसी में लाकर पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सुपुर्द किया गया  ओर बौंली थाने में मृग दर्ज करवाकर पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है । फांसी लगाकर आत्महत्या करने वाला युवक हरिशंकर परिवार में 3 बहिनों का इकलौता भाई था वो भी अब इस दुनिया में नहीं रहा ।मृतक के पिता का भी पहले ही इस दुनिया से चल बसे थे।कोई नहीं बचा बूढ़ी मा व तीन बहनों को सहारा देंने के लिए। 

व्हाट्सएप स्टेट्स पर लगाया था हरिशंकर ज्यादा दिन नहीं जियेगा
मृतक हरिशंकर फांसी लगाने से एक दिन पहले व्हाट्सएप पर स्टेट्स लगाया था । जिसमे अपनी फोटो के साथ स्टेट्स पर हरिशंकर ज्यादा दिन नहीं जियेगा ये लिख रखा था,उसके बाद अपनी फेसबुक स्टोरी पर एक लडकी के एन नाम के साथ धोखेबाज लिख कर बेवफा निकली है तू गाने के साथ स्टोरी लगा रखी थी। 

मोबाइल से खुलेगा पूरा राज 
मृतक हरिशंकर की आत्महत्या का पूरा राज मोबाइल से खुलेगा हालांकि प्रथम दृष्टया आत्महत्या का मामला प्रेम प्रसंग का लग रहा है । लेकिन आत्महत्या के लिए मजबूर कैसे हुआ इसकी पूरी जानकारी पुलिस जांच के बाद ही साफ हो पायेगी,वही मृतक युवक का एक दिन पूर्व कुछ युवकों से झगड़ा भी होने की जानकारी मिली है और मृतक के मोबाइल में कई स्क्रीनशॉट भी मिले है जिससे पूरा मामला सामने आ जायेगा । 

10 घण्टे बाद पुलिस दुबारा पहुँची पुलिस
नानतोड़ी गांव में मृतक हरिशंकर के घर मित्रपुरा पुलिस छानबीन के लिए दुबारा 10 घण्टे बाद पहुँची तो पुलिस को 2 पत्र मिले जिसमे एक मे अपनी मौत के कारणों को लेकर 4 लड़को को जिम्मेदार ठहराया है और एक पत्र में अपनी प्रेमिका के लिए शायरियां लिखी मिली है ।

बुधवार 4 बजे तक की थी बात
मृतक हरिशंकर ने फांसी लगाने से पहले अपने फोन को फ्लाईट मोड़ पर कर दिया था,वही फ़ोन में अंतिम बार माय लाइफ के नाम से नम्बर सेव है, उससे शाम को 4 बजकर 11 मिनट पर टेक्स्ट मेसेज किया जिसमे लिखा की बाबु आज बात करने का बहुत मन कर रहा है उसके बाद साढ़े 5 बजे 20 मिनट 55 सेकंड बात हुई उससे पहले इस नम्बर पर 50 मिनट बात हुई थी,  मृतक के मोबाइल से खुल सकता है घटना क्रम का पूरा मामला।