10 बजे शुरू होने वाली थी REET परीक्षा, 8:32 पर 2 कांस्टेबल के मोबाइल पर आ गया पेपर; पत्नियाँ दे रही थी पेपर

 
constable news

 रीट परीक्षा में नकल रोकने के लिये की गई नेटबंदी को पुलिस के ही कुछ कार्मिकों ने भेदकर रख दिया। सवाई माधोपुर जिले की गंगापुर सिटी में दो पुलिसकर्मियों को अपनी-अपनी पत्नियों को राजस्थान अध्यापक पात्रता परीक्षा के लेवल-2 में नकल कराने के आरोप में पकड़ा गया है।

पुलिस ने उनकी पत्नियों के अलावा चार अन्य अभ्यर्थियों को भी गिरफ्तार किया गया है। मामले की गंभीरता को देखते आरोपी पुलिस कांस्टेबल और हेड कांस्टेबल को निलंबित कर दिया गया है। रीट परीक्षा के दौरान नकल करने या कराने के प्रयास में पुलिस ने आधा दर्जन से ज्यादा जिलों में करीब 40 लोगों को पकड़ा है। इनमें सात सरकारी शिक्षक भी शामिल बताये जा रहे हैं।

जानकारी के अनुसार गंगापुर सिटी में नकल कराने के आरोप में एसओजी व सवाई माधोपुर पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई करते हुये हेड कांस्टेबल यदुवीर सिंह और कांस्टेबल देवेंद्र सिंह को गिरफ्तार किया है। वहीं यदुवीर सिंह की पत्नी सीमा गुर्जर और देवेंद्र सिंह की पत्नी लक्ष्मी गुर्जर के अलावा अभ्यर्थी आशीष मीणा, उषा मीना, मनीषा मीणा और दिलखुश मीणा को पुलिस को भी गिरफ्तार किया गया है। इस कार्रवाई के बाद सवाई माधोपुर पुलिस अधीक्षक राजेश सिंह ने यदुवीर सिंह और देवेन्द्र सिंह को निलंबित कर दिया है।

दोनों पुलिसकर्मियों के मोबाइल में रीट का पेपर मिला है। दोनों अपनी पत्नियों को नकल करवा रहे थे। रीट लेवल-2 का पेपर सुबह 10 बजे शुरू हुआ था। बताया जा रहा है कि उससे पहले ही रीट का पेपर पुलिसकर्मियों के पास आ गया था। उसके बाद वे अपनी पत्नियों को नकल करवा रहे थे। पुलिस ने दोनों पुलिसकर्मियों के मोबाइल भी जब्त कर लिये हैं।

दूसरी तरफ सिरोही जिले में भी एक पुलिसकर्मी की भी भूमिका संदिग्ध पाये जाने पर उसे निलंबित किया गया है। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक देवेन्द्र शर्मा के बताया कि कालन्दरी थाने में तैनात कांस्टेबल शैतानाराम को सस्पेंड किया गया है। शैतानाराम के मोबाइल में रीट परीक्षा को लेकर संदिग्ध व्हाट्सअप चैट पाई गई है। पुलिस इस मामले की भी पूरी जांच कर रही है।