राजस्थान : आर्थिक तंगी से घर चलाना हुआ मुश्किल, मां ने 3 बच्चों के साथ टांके में लगाई छलांग, तीन की मौत, 1 साल की मासूम बची

 
आर्थिक तंगी से घर चलाना हुआ मुश्किल, मां ने 3 बच्चों के साथ टांके में लगाई छलांग

जैसलमेर। जिले के पोकरण इलाके से दिल दहलाने वाली घटना सामने आई है। यहां एक मां ने अपने 3 बच्चों के साथ पानी से भरे टांके (टंकी) में छंलाग लगा दी। हादसे में मां और दो बच्चों की दर्दनाक मौत हो गई। जबकि एक साल की बच्ची को जिंदा बचा लिया गया है। परिजनों और ग्रामीणों की सूचना पर पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शवों को बाहर निकाला। प्रथम दृष्टया सामूहिक आत्महत्या का कारण आर्थिक तंगी माना जा रहा है। पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

पुलिस ने बताया कि सामूहिक आत्महत्या की यह घटना पोकरण के सांकड़ा थाना इलाके में रविवार को हुई। बच्चों के साथ आत्महत्या करने वाली महिला सायरा (32) जालोर जिले के सेवड़ी गांव की रहने वाली थी। उसकी शादी करीब 10 साल पहले सांकड़ा इलाके के दसपतपुरा निवासी फिरोज खान के साथ हुई थी। सायरा का पति सुबह अपनी भेड़ बकरियां चराने गया हुआ था। पीछे से सायरा ने अपने तीनों बच्चों के साथ टांके में छलांग लगा कर सामूहिक आत्महत्या का कदम कर ली।  आत्महत्या की इस घटना के बारे में उस वक्त पता लगा जब सायरा का ससुर अपनी भैंस को पानी पिलाने टांके पर गया तब उसकी एक साल की मासूम पोती चिल्ला रही थी। इस पर उसने टांके में देखा तो उसके होश उड़ गये। उसने तत्काल मासूम को बाहर निकाला और ग्रामीणों को घटना की जानकारी दी। उसके बाद ग्रामीण मौके पर पहुंचे और पुलिस को सूचना दी। सूचना पाकर पुलिस तत्काल वहां पहुंची और ग्रामीणों के सहयोग से महिला और दोनों बच्चों शाहरूख (8) और सिकेन्द्र (3) को बाहर निकाला, लेकिन तब तक उनकी मौत हो चुकी थी।

वहीं एक साल की मासूम बच्ची को सांकड़ा अस्पताल पहुंचाया, वहां से उसे प्राथमिक उपचार के बाद पोकरण अस्पताल के लिये रेफर कर दिया। जहां चिकित्सकों की टीम ने कड़ी मशक्कत कर बच्ची की जान बचा ली। कुछ समय बाद स्वस्थ होने पर बच्ची को छुट्टी दी गई। पुलिस ने तीनों मृतकों के शवों को स्थानीय अस्पताल की मोर्चरी में रखवा दिया।

पुलिस अनुसार प्रथम दृष्टया सामूहिक आत्महत्या का कदम आर्थिक तंगी के चलते उठाया गया है। सायरा का पति शुगर की बिमारी से पीड़ित है, उससे मजदूरी नहीं हो पाने के कारण घर का खर्चा चलाना मुश्किल हो रहा था। इस पर सायरा ने अपने बच्चों के साथ सामूहिक आत्महत्या कर ली। पुलिस मामले की हर पहलू से पड़ताल करने में जुटी है।