REET परिक्षा 2021 को लेकर तैयारियां हुई पूरी, शिक्षा मंत्री ने कही यह अहम बाते

 
Govind singh dotasrrea

 राजस्थान। 26 सितम्बर को होने जा रही रीट परीक्षा में नकल और भ्रष्टाचार के मामलों को रोकने के लिए विभाग पूरी तरह मुस्तैद मे नजर आ रहा है। ऐसे में शिक्षा विभाग की ओर से परीक्षार्थियों को पहले से ही दिशा-निर्देश जारी कर दिए है। किसी भी अधिकारी द्वारा सेंटर पर स्मार्टफोन का इस्तेमाल नहीं किया जाएगा। परीक्षार्थियों को परीक्षा केन्द्रों पर निशुल्क मास्क भी दिया जाएगा। परीक्षार्थियों द्वारा लाये गये मास्क कि अनुमती नहीं होगी। शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने बताया मास्क में डिवाईस लगाकार नकल जैसे मामलों को रोकने के लिए सरकार की ओर से यह फैसला लिया गया। विद्यार्थियों को सेंटर के गेट पर नया मास्क दिया जाएगा। साथ ही परीक्षा केन्द्रों पर किसी भी अधिकारी को स्मार्टफोन नहीं ले जाने के आदेश है।

यदि कलक्टर और उडनदस्ते के अधिकारियों द्वारा सेंटर का निरीक्षण किया जाता है तो इसलिए इन अधिकारियों को अपने स्मार्टफोन अपनी गाड़ी में छोड़कर जाना होगा। परीक्षार्थियों को कोई असुविधा ना हो इसलिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा द्वारा सभी भामाशाह और एनजीओ से अपील की गई थी वो अपने स्तर पर विद्यार्थियों की सहायता करे। जिससे पूरे प्रदेश में विभिन्न संगठनों और इनकी ओर से विद्यार्थियों के रहने, खाने-पीने की व्यवस्था की जा रही है।

शिक्षा मंत्री डोटासरा ने बताया अपील का असर देखने को मिला। बड़ी संख्या में भामाशाह आगे आ रहे के साथ ही विद्यार्थियों के रहने, खाने-पीने की व्यवस्था कर रहे है। साथ ही महिला अभ्यर्थियों के लिए अलग से व्यवस्था की जा रही है। शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह ने नेट को लेकर कहा नेट बंद करने को लेकर अभी तक कोई फैसला नहीं लिया है। अगर जिला कलक्टर्स को लगे नेट बंद करने की आवश्यकता तो उसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। साथ ही इतनी बड़ी परीक्षा होती है तो लोगों को थोड़ी समस्या होती है। पर रविवार का दिन होने से ज्यादा समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा। मार्केट को बंद करने की कोई बात नहीं कही गई है। इतनी बड़ी परीक्षा विभाग के लिए भी चैलेंज और इससे निपटना सबसे बड़ी चुनौती है। लोगों को घरों में रहने की अपील की गई है।

सरकार ने किसी भी मार्केट को बंद नहीं करने की बात कही है। निजी स्कूलों में परीक्षा कक्ष के सीसीटीवी कैमरों को ढककर रखा जाएगा। निजी स्कूलों में परीक्षा कक्षों के अंदर के सीसीटीवी कैमरों को बंद करने के फैसले के सवाल के जवाब में शिक्षा मंत्री ने बताया परीक्षा कक्षों के अंदर  सीसीटीवी कैमरों को ढका जाएगा। वह इसलिए यह कैमरे सिस्टम से कनेक्ट होते है। ऑनलाइन क्लास इनके माध्यम से संचालित की जाती है। ऐसे में कोई इन कैमरों को हैक कर पेपर को आउट ना कर सकेगा। इसीसे परीक्षा कक्षों में स्थित कैमरों को ढकने का फैसला लिया गया। हालांकि सड़को पर स्थित कैमरों से पूरी निगरानी की जाएगी।