REET EXAM को लेकर एक्शन में पुलिस, 3 शिक्षक समेत 5 लोगो को किया गिरफ्तार, 9 लाख कैश बरामद

 
Fraud

राजस्थान। प्रदेश भर मे शिक्षक पात्रता परीक्षा से पहले पुलिस की टीम एक्शन मोड में है। परीक्षा में गड़बड़ को रोकने के लिए अलग-अलग स्थानों पर छापामार कर कार्रवाई की जा रही है। फर्जीवाड़े की तैयारी कर रहे 5 लोगों को प्रदेश के अलग अलग स्थानों से गिरफ्तार किया गया है। बाड़मेर में पुलिस साढ़े 9 लाख रुपये कैश के साथ दो सरकारी शिक्षकों को गिरफ्तार किया। रीट परीक्षा में डमी अभ्यार्थी बैठाकर फर्जीवाड़ा का प्लान बना रहे शिक्षकों को मुखबिर की सूचना के आधार पर गिरफ्तार किया है। जानकारी के अनुसार दोनों डर्मी अभ्यार्थियों के एवज में 5 परीक्षार्थियों से 60 लाख रुपयों में सौदा करना चाहते थे। रीट परीक्षा मे गड़बड़ी रोकने के लिए पुलिस की टीम जोधपुर, अलवर, जालोर, बाड़मेर, डूंगरपुर समेत कई जिलों में लगातार छापामार कार्रवाई कर रही है।

पुलिस के अनुसार एडंवास के तौर पर आरोपी शिक्षकों ने साढ़े 9 लाख रुपये नकद लिए थे। जिसकी बरामदगी उनके पास से ही की गई। पुलिस टीम अलग . अलग स्थानो पर दबिश देकर दोनों शिक्षकों को दबोचा है। पुलिस अधीक्षक आनंद शर्मा, एएसपी नितेश आर्य सहित पुलिस टीम जालोर, जोधपुर सहित अन्य ठिकानों पर दबिश कर रहे है। एक शिक्षक गिड़ा के लापुदड़ा व दूसरा शिक्षक जालोर के चितलवाना निवासी है जिनके पास से बिना नम्बरी स्कार्पियो, एडमिट कार्ड, मिक्स फोटो के फर्जी दस्तावेज जब्त किए गए है। आरोपियों से पूछताछ जारी है। आगामी 26 सितंबर को रीट का परीक्षा होने वाली है। जिसमें प्रदेश भर से लाखों अभ्यार्थी हिस्सा लेने जा रहे है। रीट कि परीक्षा में धोखाधड़ी करने वाली गैंग को अलवर से पकड़ा गया। अलवर में पुलिस द्वारा 2 आरोपियों को गिरफ्तार किया।

1 आरोपी भीम सिंह शराब ठेकेदार है। और दूसरा आरोपी मूलचंद मीणा बिजली विभाग में रैणी में जेईएन पद पर पोस्टेड है। दोनों आरोपियों से 2 कार, 2 मोबाइल, नकदी, अभ्यर्थियों के प्रवेश पत्र बरामद किए गए। जानकारी के अनुसार यह भी डमी अभ्यर्थी बैठाने की तैयारी में थे। डूंगरपूर जिले की धंबोला पुलिस ने सब इंस्पेक्टर भर्ती परीक्षा व रीट परीक्षा सहित अन्य प्रतियोगी परीक्षा में लाखों रुपए लेकर फर्जी अभ्यर्थी बैठाने के काले कारनामे को बीते शुक्रवार को उजागर किया है। इस मामले में धम्बोला पुलिस ने पीठ कस्बे से सरकारी शिक्षक को गिरफ्तार किया है। शिक्षक के पास से 12 लाख से अधिक नकदी व प्रतियोगी परीक्षा से जुड़े दस्तावेज जब्त किए गए। सीमलवाड़ा डिप्टी रामेश्वर लाल चौहान ने इस मामले की पुष्टि की। आरोपी प्रतियोगी परीक्षाओं में डमी अभ्यर्थी बैठाने की तैयारी में था। पुलिस को इसके पास से कई फर्जी दस्तावेज बरामद हुए।