Pali : शादी समारोह में मचा कोहराम, 300 लोग फूड पॉइजनिंग के शिकार, घर लौटते ही होने लगी उल्टी-दस्त

 
Pali: There was chaos in the marriage ceremony, 300 people were victims of food poisoning, vomiting and diarrhea started happening as soon as they returned home.

पाली। जिले में फूड पॉइजनिंग का एक बड़ा मामला (A big case of food poisoning) सामने आया है। पाली के सोजत रोड़ (Pali's Sojat Road) थाना क्षेत्र में आयोजित शादी समारोह में खाना खाने के बाद करीब 300 लोग फूड पॉइजनिंग का शिकार (About 300 people suffer from food poisoning after having food at the wedding ceremony.) हो गए। बड़ी संख्या में लोगों को पेट दर्द, उल्टी व दस्त की शिकायत (People complain of abdominal pain, vomiting and diarrhea) होने के बाद अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। मामले की सूचना मिलते ही पाली एडीएम और सीएमएचओ तुरंत अस्पताल पहुंचे और पीड़ितों की हालत का जायजा लिया।

वहीं अस्पताल में अतिरिक्त मेडिकल स्टाफ को भी बुलाया गया, बता दें कि अस्पताल प्रशासन का कहना है कोई भी मरीज गंभीर हालत में नहीं है। दरअसल, सोजत के धुंधला गांव में बीते रविवार दोपहर टीचर भोमाराम जाट के बेटे की शादी में खाना खाने के बाद लोगों को फूड पॉइजनिंग की शिकायत हुई जिसके बाद सैकड़ों लोगों की तबियत बिगड़ गई।

बताया जा रहा है कि धुंधला गांव में हुई इस शादी में गांव के अलावा आस-पास के गांवों के लोग व रिश्तेदार भी शामिल हुए थे जिनकी संख्या करीब एक हजार के आसपास थी। शादी समारोह के दौरान दोपहर करीब दो बजे लोगों ने खाना खाया जिसके बाद पेट दर्द, उल्टी व दस्त की शिकायत होने लगी।
बता दें, शादी समारोह के दोरान खाने में रोटी-सब्जी के साथ रसमलाई, दही बडे़, और रायता परोसा गया था। जिसको खाने के बाद लोगों को पेट दर्द, उल्टी व दस्त की शिकायत होने लगी। शादी समारोह में लोगों को उल्टियां करते देख मौके पर अफरातफरी मच गई। ऐसे में लोगों को तुरंत सोजत रोड़ हॉस्पिटल उपचार के लिए भेजा गया।

कुछ ही देर में हॉस्पिटल में इलाज के लिए पहुंचने वालों की संख्या 300 तक हो गई। वहीं 30 से ज्यादा लोगों को सोजत सिटी रेफर किया गया है। इसके अलावा फूड पॉइजनिंग का शिकार होने का पता चलते ही एडीएम पाली चंद्रभान सिंह भाटी, सीओ सोजत डॉ. हेमंत जाखड़, सीएमएचओ डॉ. विकास मरवाल भी मौके पर पहुंचे।
गौरतलब है कि फूड पॉइजनिंग के शिकार लोगों के बड़ी संख्या में अस्पताल पहुंचने पर वहां अफरातफरी मच गई। एक बार बेड भी कम पड़ते हुए दिखाई दिए। एक बेड पर तीन-तीन बच्चों का इलाज किया गया। वहीं ज्यादातर मरीजों को इलाज के बाद घर भेज दिया। सोजत रोड़ थाना प्रभारी ऊर्जाराम ने बताया कि धूंधला जाकर खाने का सैंपल लिया गया जिसकी जांच करवाई जा रही है।