कोटा में आज से राज्य की आबकारी गारंटी नीति का विरोध करेंगे शराब व्यवसायी

देसी और अंग्रेजी किसी भी शराब का कोई बिलिंग नहीं करेंगे
 
कोटा वाइन कांट्रेक्टर एसोसिएशन की बैठक

कोटा। कोटा वाइन कांट्रेक्टर एसोसिएशन की बैठक रविवार को शॉपिंग सेंटर स्थित एक रेस्टोरेंट में संपन्न हुई। जिसमें आबकारी गारंटी नीति का विरोध करते हुए यहां शराब व्यापारियों ने आंदोलन की चेतावनी दी। कोटा वाइन कांट्रेक्टर एसोसिएशन के अध्यक्ष विनोद पारेता ने कहा कि एसोसिएशन कई महीनों से राज्य सरकार के सभी स्तर के अधिकारियों व आबकारी विभाग के प्रमुख शासन सचिव जोगाराम, प्रदेश के मुख्य सचिव निरंजन आर्य तक को ज्ञापन देकर गारंटी नियम का विरोध कर और बदलाव की मांग कर रही है। लेकिन सरकार की तरफ से लगातार आश्वासन ही मिल रहा है।

इधर, शराब व्यापारी लगातार दबाव में आकर परेशान हो रहे हैं। ऐसे में कांट्रेक्टर एसोसिएशन कें सभी शराब व्यापारियों ने संयुक्त रूप से निर्णय लिया कि सोमवार से विरोध में आंदोलन शुरू किया जाएगा। इसके तहत आरएमएससी गोदाम पर धरना प्रदर्शन किया जाएगा। यही नहीं शहर का कोई भी शराब व्यापारी अंग्रेजी या देसी किसी भी तरह की शराब की बिलिंग नहीं करेगा। गारंटी नीति का यह विरोध जारी रखा जाएगा। शराब व्यापारियों ने कहा कि गांरटी नीति के चलते शराब व्यापारियों की यह हालत हो गई है कि उनकी आर्थिक स्थिति डांवाडोल हो गई है और बिलिंग करने की स्थिति में नहीं हैं।

व्यापारियों ने कहा कि आबकारी विभाग किसी भी तरह की कार्रवाई करे, व्यापारी हर तरह से तैयार है लेकिन गारंटी नीति में बदलाव कराके मानेंगे। इसमें मुख्य रूप से विनोद पारेता अध्यक्ष वाइन एसोसिएशन कोटा, वरिष्ठ उपाध्यक्ष अजय सिंह राठौड़, बलविंदर चावला, सोहन सुवालका पूर्व अध्यक्ष वाइन एसोसिएशन कोटा, संतोष अग्रवाल, योगेश चतुर्वेदी, राम कल्याण नागर, विनोद झामनानी, देवेश तिवारी ग्रुप, हनुमान पारेता, राजू पालीवाल,  सावर सिंह, शंकर बना, इसरार बेग, धर्मेंद्र सुवालका, धर्मेंद्र मीणा, आदित्य सिंह हाडा एवं समस्त ठेकेदार उपस्थित रहे।