कोटाः हवा को चीरने वाले बाज के चायनीज मांझे से कटे पंख हुआ घायल, पार्षद ने इलाज के बाद चिड़िया घर छोड़ा

 
हवा को चीरने वाले बाज के चायनीज मांझे से कटे पंख हुआ घायल, पार्षद ने इलाज के बाद चिड़िया घर छोड़ा

कोटा। प्रतिबंधित चायनीज मांजे से घायल होकर ब्लैक काइट पक्षी जय महावीर व्यायाम शाला परिसर में आकर गिरा जिसका पंख पूरा कट चुका था। व्यामशाला सदस्य हनुमान, रणजीत सिंह ने कोटा दक्षिण भाजपा पार्षद सुरेंद्र राठौर को इसकी सूचना दी। इस पर तुरंत पार्षद व साथी वेद प्रकाश कश्यप के साथ राजकीय पशु चिकित्सालय लेकर पहुंचे, जहां पर इसका इलाज करवाया।

इलाज के बाद वरिष्ठ पशु चिकित्सक डॉक्टर पांडे द्वारा इसे चिड़ियाघर में छुड़वाने के लिए कहा। इस बाज का इलाज कराने के बाद इसे चिड़ियाघर कर्मचारियों के सुपुर्द किया गया। साथ ही पार्षद ने लोगो से अपील भी की मकर संक्रांति पर्व पर चायनीज मांझे का उपयोग न करे, यह पशु- पक्षियों के लिए ही मनुष्यों के लिए भी जानलेवा बना हुआ है, सरकार और प्रशासन ने भी इसकी बिक्री व प्रयोग पर प्रतिबंध लगा रखा है। मकर संक्रांति पर सिर्फ ज़रूरतमन्द लोगो को दान करके इस त्योहार को मनाए।