कोटा बिल्डिंग में काम करते 80 फीट ऊंचाई से गिरे मजदूर की हुई मौत, ठेकेदार के खिलाफ मामला दर्ज

 
परिजनों ने लिखित शिकायत दी है

कोटा। शहर के बोरखेड़ा थाना इलाके में निर्णाधीन बिल्डिंग में काम करते समय करीब 80 फीट ऊंचाई से मजदूर की गिर कर मौत हो गई। मामले में परिजनों ने लापरवाही का आरोप लगाते हुए एमबीएस अस्पताल हंगामा मचा दिया। पोस्टमार्टम के दौरान मोर्चरी के बाहर मृतक के पिता दुर्गाशंकर का आरोप है कि छुट्टी होने के बाद भी दबाव बनाकर ओवर टाइम करवाया जा रहा था। मौके पर लाइट की व्यवस्था भी नहीं थी।

दुर्गाशंकर ने बताया कि वो ओर उसके दो बेटे बिल्डिंग में मजदूरी का काम करते हैं। शनिवार को साढ़े 5 बजे उनकी छुट्टी हो गई। बड़ा बेटा रोहित बिल्डिंग के नीचे खड़ा था। जबकि छोटा बेटा आशीष (22) छुट्टी होने के बाद भी लिफ्ट पर काम कर रहा था। वहां लाइट की व्यवस्था नहीं थी। नीचे आने के दौरान आशीष अचानक गिर गया और उसकी मौत हो गई। दुर्गाशंकर ने आरोप लगाया कि सुपरवाइजरों ने दबाव डालकर ओवर टाइम करवाया। तीन दिन पहले भी उसे ओवर टाइम नहीं करने पर काम से हटाने की बात कहीं थी। अब मौत के बाद कंस्ट्रक्शन कम्पनी से जुड़े अधिकारी 3 लाख रुपए देकर मामला रफादफा करने की बात कह रहे है।

बोरखेड़ा थाना सीआई महेंद्र मीणा ने बताया कि आशीष ग्रुप का मल्टी का काम चल रहा था। शनिवार को बिल्डिंग में काम करते समय आशीष नाम का मजदूर पैर फिसलने से गिर गया था। पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया है। परिजनों ने लिखित शिकायत दी है। ठेकेदार के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।