कोटा: पतंगबाज़ी में गई 12 साल के मासूम की जान, घर के ऊपर से गुजर रही 11 केवी. लाइन में अटकी पतंग डंडे से उतारते वक्त हुआ हादसा

 
पतंगबाज़ी में गई 12 साल के मासूम की जान

कोटा। मकर संक्रांति पर पतंगबाजी के दौरान 11 केवी. लाइन के टच हो जाने से 12 साल के एक मासूम की मौत हो गई। 12 साल का हिमांशु गुर्जर छत पर पतंग उड़ा रहा था। छत के ऊपर से गुजर रही 11 केवी. लाइन में पतंग अटक गई। हिमांशु ने डंडे से पतंग उतारने की कोशिश की। इसी दौरान मासूम करंट की चपेट में आ गया। परिजन उसे सुल्तानपुर हॉस्पिटल लेकर पहुंचे। वहां से उसे कोटा रेफर किया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

सारोला ग्राम पंचायत के उपसरपंच जितेंद्र मीणा ने बताया कि सारोला गांव निवासी महेंद्र गुर्जर का 12 वर्षीय बेटा हिमांशु छठी कक्षा में पढ़ता था। गुरुवार सुबह 10 बजे छत पर पतंग उड़ा रहा था। उसकी मां मायके गई हुई थी। पिता खेत में थे। बड़े बुजुर्ग सब नीचे थे। हिमांशु की पतंग का मांझा अचानक बंबोरी जीएसएस से सारोला आ रही 11 केवी बिजली लाइन में अटक गया। डंडे से पतंग निकालने की कोशिश में हिमांशु के करंट लग गया। जिससे वह अचेत हो गया। घटना की जानकारी मिलते ही तुरंत मासूम को परिजन हॉस्पिटल लेकर पहुंचे जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। घटना की जानकारी मिलने पर कनिष्ठ अभियंता ललित यादव ने प्राथमिक सूचना रिपोर्ट तैयार कर कार्यवाही प्रारंभ की।