कोटा : रेल राज्य मंत्री महिलाओं से जुड़े कानूनों और योजनाओं का रखें ध्यान,सशक्त भारत के लिए महिलाओं का आत्मनिर्भर होना जरूरी- रेल राज्य मंत्री दर्शना

 
रेल राज्य मंत्री महिलाओं से जुड़े कानूनों और योजनाओं का रखें ध्यान

कोटा। रेल राज्य मंत्री दर्शनाबेन जरदोश ने कहा कि सशक्त भारत के निर्माण के लिए महिलाओं को आत्मनिर्भर होना जरूरी है। महिलाएं भी स्वयं से जुड़े कानूनों और योजनाओं की जानकारी रखें। यह सशक्तिकरण में उनके सहायक बनेंगे। वे बुधवार को भारतीय जनता महिला मोर्चा की और से आयोजित ‘‘आत्मनिर्भर नारी-सशक्त भारत‘‘ कार्यशाला को संबोधित कर रही थीं।

सशक्त भारत के लिए महिलाओं का आत्मनिर्भर होना जरूरी

डीसीएम रोड स्थित एक होटल में आयोजित कार्यशाला को संबोधित करते हुए दर्शनाबेन ने महिला कार्यकर्ताओं को अनेक टिप्स दिए। उन्होंने कहा कि भाजपा में महिलाओं को सदैव से प्रोत्साहित किया जाता रहा है। राजमार्ता सिंधिया से लेकर सुषमा स्वराज तक अनेक ऐसे उदाहरण हैं, जहां महिलाओं को नेतृत्व का मौका मिला। वर्तमान मोदी मंत्रिमंडल में भी महिला वित्त मंत्रालय सहित अनेक महत्वपूर्ण विभागों की जिम्मेदारी संभाल रही हैं।

उन्होंने कहा कि सामाजिक क्षेत्र में कार्य कर रही महिलाएं अपने दायित्वों को गंभीरता से निभाएं। यदि उन्हें महिलाओं से जुड़े कानूनों और योजनाओं की जानकारी होगी तो वे कई परिवारों का भला कर पाएंगी। इससे उनका एक सोशल कनेक्ट भी बनेगा। कार्य करते हुए वे महत्वाकांक्षा नहीं रखें।

दर्शनाबेन ने कहा कि भाजपा में राजा का बेटा राजा नहीं बनता। यहां साधारण कार्यकर्ता भी प्रधानमंत्री बन सकता है। महिला कार्यकर्ता बूथ पर लेवल पर भी उनका अधिक से अधिक महिलाओं को संगठन से जोड़ें। सोशल मीडिया पर भी सक्रिय बनें।

सामाजिक संगठनों, व्यापारी संगठनों  एवं भारतीय जनता पार्टी से जुड़ी महिलाएं मौजूद

इससे पूर्व लाडपुरा विधायक कल्पना देवी ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी वर्ष 2014 में नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार आने के बाद से महिला सशक्तीकरण की दिशा में ऐतिहासिक कदम उठाए गए हैं। हमें इनकी जानकारी प्रत्येक महिला तक पहुंचानी है।

कार्यशाला को भाजपा शहर जिला अध्यक्ष कृष्णकुमार सोनी, महिला मोर्चा की प्रदेश उपाध्यक्ष अनुसूईया गोस्वामी, श्रीमती कविता पचवारिया भारतीय जनता पार्टी जिला अध्यक्ष कोटा शहर, श्रीमति आशा त्रिवेदी भारतीय जनता पार्टी महिला मोर्चा जिला अध्यक्ष कोटा देहात भी संबोधित किया। कार्यक्रम में बड़ी संख्या में सामाजिक संगठनों, व्यापारी संगठनों  एवं भारतीय जनता पार्टी से जुड़ी महिलाएं मौजूद थी।