सुल्तानपुर में महिला को घर में घुसकर पड़ोसियों ने लाठी से पीट-पीटकर मौत के घाट उतारा

 
पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनो के सुपुर्द कर दिया

कोटा। जिले के सुल्तानपुर थाना क्षेत्र के बाक्या गांव में आपसी रंजिश में पड़ोसियों ने घर में घुसकर परिवार पर हमला कर दिया। लाठी-डंडों से मारपीट में घायल महिला को सुल्तानपुर अस्पताल में लाया गया। वहां से एमबीएस अस्पताल रेफर किया जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। पुलिस मौके पर पहुंची और पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनो के सुपुर्द कर दिया।

मृतका अनोखीबाई के पति राजेन्द्र ने बताया कि वो अमरपुरा गांव में इंटरलॉकिंग कार्य में मजदुरी करते हैं। सोमवार को काम से लौटने के दौरान रास्ते मे शराब के नशे में पड़ोसियों ने मारपीट की थी। रात 8 बजे करीब घर पहुंचने पर पत्नी को सारी बात बताई। इस पर पत्नी गुस्से में होकर जोर-जोर से बोलने लगी, जो पड़ोसियों ने सुन लिया। थोड़ी देर बाद पप्पू और उसके तीन भतीजे पुरुषोत्तम, सुरेश और नरेंद्र लाठी-डंडे लेकर घर में घुस गए। उस दौरान घर पर दो बेटियां, 1 बेटा, पत्नी और मां मौजूद थी। पिता किसी काम से बाहर गए हुए थे। चारों ने मिलकर परिवार के सदस्यों पर हमला कर दिया। हमले में पत्नी गंभीर घायल हो गई। उसे लेकर सुल्तानपुर अस्पताल पहुंचे।

राजेन्द्र ने बताया कि कुछ दिन पहले पड़ोसी नरेंद्र के भाई ने उसकी बेटी से छेड़छाड़ की थी। इसकी शिकायत सुल्तानपुर थाने में दी थी। शिकायत पर पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार भी किया था। सीएलजी की बैठक में पुलिस ने समझौता करवाया था। तब से ही पड़ोसी रंजिश पाले बैठे थे।

सुल्तानपुर थानाधिकारी छुट्टन लाल ने बताया कि देर रात राजेन्द्र शराब के नशे में था। आपसी कहासुनी के बाद पड़ोसियों ने उससे मारपीट की थी। पत्नी गुस्सा हो गई और जोर-जोर से पड़ोसियों को बोलने लगी। तभी आरोपियों ने डंडों से उस पर हमला कर दिया। अंदरुनी चोट लगने घायल हुई महिला की इलाज के दौरान मौत हो गई। महिला के शरीर पर चोट के निशान नहीं मिले। परिजनों की शिकायत पर हत्या का मामला दर्ज कर लिया है।