कोटा के मुकुंदरा विहार में बाघ आने का स्वागत, पर्यटन के नक्शे कदम पर निरंतर प्रयास आवश्यक

- यू डी टेक्स में व्याप्त विसंगतियों को दूर किया जाए 
- कोटा के औघोगिक विकास को लेकर औद्योगिक संगठनों की बैठक में हुआ मंथन
 
Welcome to the arrival of tiger in Mukundara Vihar, Kota, continuous efforts are necessary on the footsteps of tourism
कोटा, (के के कमल)। औद्योगिक संगठनों की बैठक (industrial association meeting) शनिवार को माहेश्वरी जलसा होटल पर संपन्न हुई। बैठक मे दी एसएसआई एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष एवं कोटा व्यापार महासंघ के महासचिव अशोक माहेश्वरी, जनरल इंडस्ट्रीज सप्लायर संघ के अध्यक्ष भगवान न्याती, सचिव महावीर जैन, कोटा स्टोन ट्रेडर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष बी के गुप्ता, सचिव हरीश प्रजापति, हाड़ोती कोटा स्टोन इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के संस्थापक अध्यक्ष राजेश गुप्ता, खादी ग्रामोद्योग संघ के अध्यक्ष राजेंद्र जैन, सचिव पदम जैन, कोटा व्हीकल डीलर्स एसोसिएशन के महासचिव अनिल मूंदड़ा, दी एसएसआई एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष मुकेश गुप्ता, स्टोन माइन्स ट्रेडर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष विपिन सूद, कोटा सेंड स्टोन मार्बल एंड ग्रेनाइट उद्योग संघ के अध्यक्ष देवेंद्र कुमार जैन लघु उद्योग भारती के सचिव अंकुर गुप्ता, दी एसएसआई एसोसिएशन के पूर्व सचिव पवन मूंदड़ा, सदस्य श्याम अग्रवाल स्टोन मर्चेंट विकास समिति के पूर्व सचिव रविंद्र जैन सहित कई औद्योगिक संगठनों के पदाधिकारी मौजूद थे।

दी एसएसआई एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष एवं कोटा व्यापार महासंघ के महासचिव अशोक माहेश्वरी ने बताया कि कोटा में मुकुंदरा विहार बाघ आने से कोटा के पर्यटन के नक्शे में एक और कदम बड़ा है लेकिन कोटा को पूर्णतया पर्यटन नगरी के रूप में बनाने के लिए हमें निरंतर प्रयास करना होगा तभी कोटा पूर्ण पर्यटन नगरी के रूप में विकसित होगा। कोटा में जो विकास कार्य हो रहे हैं वह भी पर्यटन को देखकर ही हो रहे हैं ।साथीकोटा में एक वृद्ध उद्योग लगने का भी एमओयू हुआ है जिसमें 22400 करोड रुपए का निवेश है यह उद्योग कोटा में ही लगना चाहिए इसे अन्यत्र नहीं जाने देना है इसके लिए हम सभी को संयुक्त प्रयास करने होंगे ताकि जो यहां का औद्योगिक वातावरण ठहर सा गया था वह पुनः विकसित हो सके।

कोटा व्हीकल डीलर्स एसोसिएशन के महासचिव अनिल मूंदड़ा एवं हाड़ोती कोटा स्टोन इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के संस्थापक अध्यक्ष राजेश गुप्ता ने बताया कि औद्योगिक क्षेत्र में रीको द्वारा व्यवसाय इकाइयों पर दुगनी दरों पर सर्विस चार्ज लिया जा रहा है इसके बावजूद नगर निगम द्वारा औद्योगिक इकाइयों से यु डी टैक्स मांगा जा रहा है जो करो का दोहरीकरण है एवं कोटा में जो यू डी टेक्स हर मंजिल के हिसाब से लिया जा रहा है जबकि यू डी टैक्स प्लाट पर ही लेने का प्रावधान है यह एक बहुत बड़ी विसंगति है इसको दूर किया जाना बहुत जरूरी है।

सैण्ड स्टोन मार्बल ग्रेनाइट उद्योग संघ के अध्यक्ष देवेंद्र कुमार जैन खादी ग्रामोद्योग संघ के अध्यक्ष राजेंद्र कुमार जैन, लघु उद्योग भारती के सचिव अंकुर गुप्ता ने बताया कि राज्य में पर्यटन उद्योग के तहत सभी होटल एवं हॉस्टलों को उद्योग का दर्जा दिए जाने की मुख्यमंत्री द्वारा अनुशंसा की जा चुकी है, परंतु कोटा मे रिको द्वारा इसकी पालना बिल्कुल भी नहीं की जा रही है जो कि रीको की हठधर्मिता को दर्शाता है अतः रिको क्षेत्र में बने होटल एवं हॉस्टलों को उद्योग का दर्जा दिया जाना चाहिए।

जनरल इण्डस्ट्रीज सप्लायर्स संघ के अध्यक्ष भगवान न्याती एवं सचिव महावीर जैन कोटा स्टोन ट्रेडर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष बी के गुप्ता एवं सचिव हरीश प्रजापति ने कहा कि कोटा को पूर्ण पर्यटन नगरी बनाने के लिए कोटा में हवाई सेवा की अति आवश्यकता है हवाई सेवा की वजह से कोटा में कोई बड़ा उद्योग नहीं आ पा रहा है, कोटा में शीघ्र ही हवाई सेवा की शुरुआत की जानी आवश्यक है दी एसएसआई एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष मुकेश गुप्ता एवं पूर्व सचिव पवन मूंदड़ा व स्टोन मर्चेंट विकास समिति के पूर्व सचिव रविंद्र जैन ने बताया कि कोटा शहर में पर्यटन की दृष्टि से विकास के जो कार्य हो रहे हैं वह कोटा को देश के मानचित्र पर पर्यटक नगरी के रूप में लाने का पूरा प्रयास है जिसका स्वागत करते हैं। मुकुंदरा विहार में बाघ आने पर पर्यटन के रूप मे मील का पत्थर साबित होगा और इसके लिए और प्रयास की आवश्यकता है बैठक को कई औद्योगिक संगठनों के पदाधिकारियों ने भी संबोधित किया।