कोटा स्टोन एवं सेंड स्टोन को मंदी के दौर से उबारने के संयुक्त प्रयास होंगे- कोटा व्यापार महासंघ

- हाड़ोती कोटा स्टोन इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के अध्यक्ष पद पर सुरेश मित्तल के पदभार ग्रहण करने पर व्यापार उद्योग जगत ने किया अभिनंदन  
 
There will be joint efforts to rescue Kota Stone and Sand Stone from the recession - Kota Trade Federation

कोटा। हाड़ोती कोटा स्टोन इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के अध्यक्ष का पदभार ग्रहण (Hadoti takes over as the President of Kota Stone Industries Association) करने पर सुरेश मित्तल को कोटा के व्यापार उद्योग जगत की ओर से आयोजित समारोह मे अभिनंदन किया (Greeted Suresh Mittal at a function organized by Kota's business industry) गया।

हाड़ोती कोटा स्टोन इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के संस्थापक अध्यक्ष राजेश गुप्ता ने बताया कि इस अभिनंदन समारोह के मुख्य अतिथि कोटा व्यापार महासंघ के अध्यक्ष क्रांति जैन एवं महासचिव अशोक माहेश्वरी थे। इस अवसर पर समारोह को संबोधित करते हुए कोटा व्यापार महासंघ के अध्यक्ष क्रांति जैन एवं महासचिव अशोक महेश्वरी ने कहा कि पिछले 40 वर्षों से कोटा की अर्थव्यवस्था की धुरी रही कोटा स्टोन एवं सेंड स्टोन वर्तमान में कोरोना एवं रूस यूक्रेन युद्ध के कारण भारी मंदी के दौर से गुजर रहा है।

उन्होंने  अध्यक्ष सुरेश मित्तल के पद भार गृहण करने पर उनका स्वागत करते हुए कहा कि इस उद्योग को उभारने के लिए सकारात्मक प्रयास होगा, जिसमे कोटा व्यापार महासंघ पूरा सहयोग करने के लिए तैयार है। वर्तमान में कोटा के औद्योगिक वातावरण में आए ठहराव एवं इस उद्योग को मंदी से उबारने के लिए राज्य सरकार से मांग करेगे कि सरकारी सभी कार्या मे कोटा स्टोन एवं सेंड स्टोन की उपयोगिता को अनिवार्य करे। कोटा व्यापार महासंघ ने समय-समय पर यह मांग उठाकर इस व्यापार को मंदी से उबारने का काम किया है।

इस अवसर पर अध्यक्ष सुरेश मित्तल ने अपने अभिनंदन पर सभी का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि कोटा स्टोन व सैंड स्टोन के उत्थान के लिए में भरपूर प्रयास करूंगा। वर्तमान में कोरोना एवं रूस यूक्रेन के युद्ध के चलते विदेशों में इनकी मांगों में बहुत भारी कमी आई है, जिससे करीब 2000 करोड़ का निर्यात ठप्प हो गया है और इससे जुड़े करीब 50 हजार लोगों के सामने रोजी-रोटी का संकट पैदा हो गया। मेरी पहली प्राथमिकता रहेगी कि इस उद्योग को पुनः पटरी पर लाया जाए जिसके लिए मैं आप सभी के सहयोग से कार्य करूंगा।

इस अवसर पर हाडोती कोटा स्टोन इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के संस्थापक अध्यक्ष राजेश गुप्ता ने कहा कि एक समय था जब कोटा में कोटा स्टोन सैंड स्टोन की 700 ईकाइया कार्यरत थी, आज यह सिमटकर मात्र 100 इकाइया ही इस क्षेत्र में कार्य कर रही है। सेंड स्टोन का निर्यात ठप्प होने से अरबो रुपये का माल कोटा में रुक गया है जिससे हजारों उद्यमियो एवं श्रमिकों पर रोजगार का संकट गहरा गया है। राज्य सरकार को इस उद्योग को पुनः उठाने के लिए कोई ठोस कदम उठाना अवश्य है। राज्य सरकार इस उद्योग को राहत देने के लिए स्पेशल पैकेज देवें। 

इस अवसर पर निवर्तमान अध्यक्ष महावीर जैन ने कहा कि वर्तमान में चल रहे इस उद्योग पर आये संकट को देखते हुए अध्यक्ष सुरेश मित्तल के कंधों पर बड़ी जिम्मेदारी आ गई है इस उद्योग को संकट से उबारने के लिए वह संयुक्त प्रयास करें, उन्होंने व्यापार महासंघ से अपील की है कि हाडोती के प्रमुख इस उद्योग को उभारने के लिए उनके संघर्ष में सहयोग करें। 

अभिनंदन समारोह में कोटा व्यापार महासंघ के उपाध्यक्ष नंदकिशोर शर्मा, कोषाध्यक्ष राजेन्द्र कुमार जैन, हाड़ोती कोटा स्टोन इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष देवेंद्र कुमार जैन, अनिल मूंदड़ा, राजेंद्र कुमार जैन, दी एस एस आई एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष अनिल मूंदड़ा, मुकेश गुप्ता, जम्बु कुमार जैन, विपिन सूद, कोटा स्टोन ट्रेडर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष बी के गुप्ता, सचिव हरीश प्रजापति, जनरल इन्डिस्ट्रीज सप्लायर्स संघ के अध्यक्ष भगवान न्याती, हाडोती ग्रामोद्योग संघ के सचिव पदम जैन, दी एस एस आई एसोसिएशन के पूर्व सचिव पवन मुन्दडा, अंकुर गुप्ता एवं विकास मित्तल, श्याम अग्रवाल लुहाडिया सहित कई उद्यमी एवं व्यापारी उपस्थित थे।