कांग्रेसियों ने कलेक्टर को ज्ञापन देकर दोनों बड़े अस्पताल में चल रही ठेका कर्मियों की हड़ताल को समाप्त करने की मांग की

अस्पताल प्रशासन और ठेकेदारों की लापरवाही के कारण ठेका कर्मी हड़ताल पर
 
The Congressmen submitted a memorandum to the collector demanding an end to the strike of contract workers in both the big hospitals.
कोटा, (विशाल उपाध्याय)। संभाग के दोनों बड़े अस्पताल एमबीएस और जेके लोन अस्पताल में अधीक्षक ओल्ड ठेकेदार की लापरवाही (Negligence of superintendent old contractor in both big hospitals MBS and JK Lone Hospital of the division) के कारण वहां के ठेका कर्मियों का वेतन समय पर नहीं मिल पाने से ठेका कर्मी हड़ताल पर रहते हैं और यह हड़ताल हर महीने ठेका कर्मियों को समय पर वेतन न मिलने के कारण होती है पर अस्पताल अधीक्षक और ठेकेदार हर महीने अपनी लापरवाही के कारण इसका उस उचित समाधान नहीं करते हैं। 

इस कारण कांग्रेस जन जिला कांग्रेस महामंत्री विपिन बरथुनिया और सचिव एवं पार्षद साजिद खान लाला भाई ने जिला कलेक्टर को ज्ञापन देकर इस हड़ताल को हमेशा के लिए समाप्त करने और उसका उचित समाधान करने की मांग की। जिला कांग्रेस महामंत्री विपिन बरथुनिया ने कहा कि अस्पताल का 80 प्रतिशत कार्य ठेका कर्मियों के द्वारा चलता है और ठेका कर्मी ही 24 घंटे अपनी सेवाएं अस्पताल में देते हैं, यहां तक कि कोरोना के समय में भी अस्पताल प्रशासन के साथ ठेका कर्मी कंधे से कंधा मिलाकर लगे रहे पर अस्पताल प्रशासन और ठेकेदारों को इससे कोई मतलब नहीं है, ठेका कर्मी का वेतन समय पर नहीं मिल रहा है।

ऐसे में ठेका कर्मी अपने परिवार का पालन पोषण कैसे करें इसका उचित समाधान होना अति आवश्यक है, इसलिए हमने कलेक्टर साहब को दोनों अस्पतालों के अधीक्षकों और प्रिंसिपल को बुलाकर इस पर निर्णय लेने के लिए कहां है और साथ ही अस्पतालों के टेंडर बाहरी कंपनी को ना देकर कोटा की संस्था को देने के लिए कहां है साथ ही सभी टेंडर छोटे-छोटे रुप में अलग-अलग संस्थाओं को देने के लिए कहां है जिससे किसी को परेशानी ना हो। 

ज्ञापन देने वालों में मुख्य रूप से सेवा दल प्रदेश सचिव अमित सूद, कोटा देहात आईटी सेल अध्यक्ष प्रदीप सुमन, दीपक शर्मा, प्रिंस वर्मा, माया जैन, बृजेश खींची, जॉनी वर्मा, विजय कोडप, सुमित्रा वैष्णव, महेश रेगर, राजेंद्र कुमार, दानिश अंसारी, मुकेश प्रजापति आदि कांग्रेस जन उपस्थित रहे।