शोभायात्रा तैयारी बैठक: सभी विभाग अनन्त चतुर्दशी की तैयारियों को गुणवत्ता के साथ मूर्तरूप दें- जिला कलक्टर

 
Procession preparation meeting: All departments should embody the preparations for Anant Chaturdashi with quality - District Collector

कोटा। जिला कलक्टर ओपी बुनकर ने कहा कि अनन्त चतुर्दशी शोभायात्रा में सभी विभाग दिए गए दायित्वों का समय पर करते हुए अधिकारी सम्पूर्ण जुलूस मार्ग का भ्रमण कर व्यवस्थाओं को गुणवत्ता के साथ पूरा कराएं। 

जिला कलक्टर बुधवार को कलेक्ट्रेट सभागार में अनन्त चतुर्दशी शोभायात्रा की तैयारियों की समीक्षा करते हुए उपस्थित अधिकारियों को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि अनन्त चतुर्दशी का पर्व कोटा में हर्षाेल्लास के साथ मनाया जाता है। शोभायात्रा में शहर के विभिन्न मार्गों से होकर गुजरने वाली प्रतिमाओं के साथ नागरिक बड़ी संख्या में भाग लेते हैं। उन्होंने कहा कि सभी मार्गों का पेचवर्क, रोशनी, साफ-सफाई एवं सुरक्षात्मक रूप से बैरीकेटिंग व बिजली व्यवस्था समय पर पूरी करें। उन्होंने प्रमुख शोभायात्रा मार्ग की मरम्मत, रोशनी एवं विद्युत तारों की ऊँचाई का निरीक्षण आयोजन समिति के पदाधिकारियों के साथ करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि क्षेत्रवार नियुक्त किए गए मजिस्ट्रेट एवं पुलिस अधिकारी संयुक्त भ्रमण कर विभागों को दिए गए दायित्वों की क्रियान्विति का जायजा लेकर आवश्यक सुधार कार्यों को समय पर पूरा कराएं। 

जिला कलक्टर ने सभी अधिकारियों को शोभायात्रा मार्ग की शुरुआत से लेकर प्रतिमाओं के विसर्जन स्थल तक रोशनी एवं सुरक्षात्मक उपायों का भी प्रशिक्षण करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि मार्ग में पड़ने वाले सभी भवनों की गुणवत्ता का आकलन करवाकर असुरक्षित भवनों में नागरिकों के प्रवेश को पूर्ण रूप से प्रतिबन्धित कराएं। उन्होंने चिन्हित स्थानों पर मेडिकल टीम नियुक्त करने एवं एमबीएस अस्पताल व मेडिकल कॉलेज में व्यवस्थाएं रिजर्व रखने के निर्देश दिए। 
प्रतिमाओं की विसर्जन स्थलों की तैयारियों की समीक्षा करते हुए उन्होंने किशोर सागर की पाल बारहद्वारी, भितरिया कुण्ड सहित नए कोटा एवं नदी पार, पटरीपार व कंसुआ क्षेत्र के लिए चिन्हित स्थानों पर नाव, क्रेन व पब्लिक एड्रेस सिस्टम को व्यवस्थित करने के निर्देश दिए। उन्होंने नगर निगम को शोभायात्रा से पूर्व सम्पूर्ण मार्ग की विशेष साफ-सफाई, शोभायात्रा के बाद विशेष टीम लगाकर कचरा उठाव करने के निर्देश दिए। 

अधिकारी सक्रियता से सम्पूर्ण व्यवस्था पर निगरानी रखंे-
पुलिस अधीक्षक शहर केसर सिंह ने कहा कि शोभायात्रा में अधिकारी आपसी समन्वय रखते हुए प्रत्येक गतिविधि पर सक्रियता से निगरानी रखें। धार्मिक स्थलों के आस-पास अनावश्यक नारेबाजी नहीं की जाए। उन्होंने आयोजन में कानून व्यवस्था व सुरक्षा के पहलूओं पर निरंतर निगरानी रखते हुए किसी भी प्रकार की दुर्घटना नहीं हो इसके लिए सुव्यवस्थित यातायात, रोशनी, विसर्जन स्थल पर नाव व रेस्क्यू टीम प्रभावी रखने के निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि शोभायात्रा पर सीसीटीवी कैमरों व ड्रोन से निरंतर निगरानी रखी जाएगी। किसी भी असामाजिक तत्व को तुरंत पहचान कर कार्यवाही की जा सके इसकी व्यवस्था की गई है। 

अतिरिक्त कलक्टर शहर बृजमोहन बैरवा ने अनन्त चतुर्दशी शोभायात्रा में विभागवार दिए गए दायित्वों एवं सम्पूर्ण क्षेत्र को 11 जोन में विभाजित कर मजिस्ट्रेट व पुलिस अधिकारियों की नियुक्ति के संबंध में विस्तार से बताया। उन्होंने सभी मजिस्ट्रेट व पुलिस अधिकारियों को संयुक्त भ्रमण करने, अखाड़ों, व्यायाम शालाओं से समन्वय के लिए नियुक्त अधिकारियों को निरंतर संवाद बनाए रखकर व्यवस्था को समय पर पूरी करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि अखाड़ों के लिए जो मार्ग निर्धारित किया गाया है उसी से प्रवेश दिया जाए। निर्धारित समय तक ही प्रदर्शन की अनुमति दें। उन्होंने विसर्जन स्थल पर छोटे बच्चों को नहीं जाने देने एवं अनावश्यक भीड़ जमा नहीं होने देने के निर्देश दिए।
 
पुलिस अधीक्षक ग्रामीण कावेन्द्र सिंह सागर ने ग्रामीण क्षेत्रों में प्रतिमाओं के विसर्जन स्थलों एवं यातायात व्यवस्था के संबंध में सभी विभागों को समय पर तैयारी करने के निर्देश दिए। इस अवसर पर अतिरिक्त कलक्टर प्रशासन राजकुमार सिंह, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर प्रवीण जैन, आयुक्त नगर निगम उत्तर वासुदेव मालावत, दक्षिण राजपाल सिंह, सचिव यूआईटी राजेश जोशी सहित सभी विभागों के अधिकारी, नियुक्त किए गए मजिस्ट्रेट व पुलिस अधिकारी उपस्थित रहें।

ये होंगी प्रशासनिक व्यवस्था-
जिला प्रशासन द्वारा अनन्त चतुर्दशी शोभायात्रा के सम्पूर्ण मार्ग का पेचवर्क व मरम्मत कार्य पूरा कराया जा रहा है। मार्ग में रोशनी एवं साफ-सफाई की विशेष व्यवस्था की जाएगी। शोभायात्रा दिवस पर मुख्य मार्ग पर यातायात प्रतिबन्धित रहेगा, बैरीकेटिंग की व्यवस्था की गई है। प्रतिमाओं की अधिकतम ऊँचाई 12 फीट मानते हुए सम्पूर्ण मार्ग में विद्युत तारों को 16 फीट की ऊँचाई तक रखा गया है। सम्पूर्ण मार्ग में पब्लिक एड्रेस सिस्टम लगाया गया है, शोभायात्रा की निगरानी के लिए ड्रोन एवं सीसीटीवी कैमरे स्थापित किए गए हैं।
 
प्रतिमाओं के विसर्जन स्थल पर रोशनी, नाव, क्रेन, एसडीआरएफ, एनडीआरएफ एवं सिविल डिफेन्स की टीम तैनात की गई है। प्रतिमाओं के विसर्जन स्थल पर छोटे बच्चों का प्रवेश निषेध रहेगा। व्यक्तिगत रूप से घरों में स्थापित प्रतिमाओं का विसर्जन के समय दो से अधिक व्यक्ति एकत्रित नहीं रहेंगे। सम्पूर्ण मार्ग में मेडिकल की टीम तथा वाहनों के सुव्यवस्थित करने के लिए क्रेन की व्यवस्था भी रहेगी।