पर्युषण पर्व : उपवास करने का मतलब अपनी आत्मा को अपने पास रखना - अभिषेक भैया जी

 
Paryushan festival: Fasting means keeping your soul with you - Abhishek Bhaiya

कोटा। तलवंडी जैन मंदिर में चल रहे पर्युषण पर्व में पिछले 10 दिनों से भैया जी अभिषेक शास्त्री द्वारा ज्ञानवर्धक, धार्मिक प्रवचनों की श्रृंखला में आज उत्तम ब्रह्मचार्य धर्म पर व्याख्यान किया।

उन्होंने अपने प्रवचन में समाज के लोगों को यह उपदेश दिया कि उपवास करने का मतलब यह नहीं है कि आपने भोजन नहीं लिया, पानी नहीं पिया, बल्कि उपवास करने का मतलब का अपनी आत्मा को अपने पास रखना, उपवास करने का मतलब यही होता है।

’इस मौके पर जैन समाज कोटा के श्रेष्ठी ओम जैन सर्राफ, श्रीमती माधुरी जैन सर्राफ, जैन समाज तलवंडी के पूर्व अध्यक्ष सुरेश चाँदवाड, जैन समाज तलवंडी के वर्तमान में महामंत्री रविन्द्र लुहाड़िया, कार्यक्रम के मुख्य संयोजक राजकुमार लुहाड़िया एवं सैकड़ों महिला-पुरुष उपस्थित थे।

रविवार को तलवंडी जैन समाज का क्षमावाणी पर्व विशुद्ध सभागार में मनाया जाएगा एवं आपस मे क्षमायाचना करके क्षमा का भाव धारण करेंगे जिसमें जैन समाज कोटा के गणमान्य महानुभाव भी उपस्थित रहेंगे।