सोने पर बीआईएस हॉलमार्क सेंटर कोटा में और खोलेजाने की आवश्यकता- ज्वेलर्स एसोसिएशन कोटा

-दीपावली पर एसोसिएशन उपलब्ध करायेगी सोने चांदी के सिक्के
-ज्वेलर्स समस्याओं के लिए लोकसभा अध्यक्ष को दिया जाएगा ज्ञापन
 
Need to open more BIS hallmark center quota on gold - Jewelers Association quota

कोटा। सोने पर बीआईएस हॉलमार्क सेंटर कोटा में (BIS Hallmark Center on Gold in Kota) और खोले जाने की आवश्यकता है तथा ज्वेलर्स एसोसिएशन कोटा (Jewelers Association Kota) दीपावली पर सोने-चांदी के सिक्के व्यापारियों को उपलब्ध कराएगा (Will provide gold and silver coins to traders on Diwali) एवं ज्वेलर्स समस्याओं के लिए लोकसभा अध्यक्ष को ज्ञापन दिया जाएगा। यह निर्णय ज्वेलर्स एसोसिएशन कोटा (रजिस्टर्ड) की साधारण सभा में लिया गया।

Need to open more BIS hallmark center quota on gold - Jewelers Association quota

ज्वैलर्स एसोसिएशन कोटा (रजिस्टर्ड) के अध्यक्ष विनोद जैन सर्राफ एवं महासचिव ओम जैन सर्राफ ने बताया कि ज्वेलर्स एसोसिएशन कोटा (रजिस्टर्ड) पहली बार इस दीपावली से पहले शुद्ध चांदी एवं सोने के सिक्के अपने नाम से 999 के एवं 9999 के शुद्ध सोने के एवं चांदी के सिक्के शुद्धता की गारंटी के साथ, ज्वेलर्स एसोसिएशन व्यापारियों को हाडोती की जनता के लिए बाजार में उपलब्ध कराए जाएंगे।

कोटा कोटा शहर की प्रतिष्ठित व्यापारिक संस्था ज्वेलर्स एसोसिएशन कोटा (रजिस्टर्ड) के द्वारा ज्वेलर्स भाइयों की साधारण सभा का आयोजन किया गया। 
ज्वेलर्स एसोसिएशन कोटा के अध्यक्ष विनोद जैन सर्राफ एवं ओम जैन सर्राफ ने बताया कि ज्वेलरी व्यापार में जो समस्याएं आ रही है जैसे भारत सरकार द्वारा सोने पर बीआईएस हॉलमार्क सेंटर कोटा में और खोले जाने की आवश्यकता है, लेकिन भारत सरकार के कड़े नियम के चलते हुए यहां पर कोटा में एक ही हॉलमार्क सेंटर चालू है, और बाकी कई हॉलमार्क सेंटर के लिए बीआईएस जयपुर कार्यालय में अप्लाई किया जा चुका है, लेकिन वहां पर इतनी पेचेदगिया है कि हॉलमार्क सेंटर खोलने में उनकी औपचारिकताएं एक साधारण व्यापारी पूरी नहीं कर सकता। इस समस्या का शीघ्र ही समाधान करने के लिए लोक सभा स्पीकर ओम बिरला को एक ज्ञापन दिया जाएगा। जिसमें और भी कई समस्याएं जो ज्वेलरी व्यापार में आ रही है उनके बारे में भी उनको अवगत कराया जाएगा।

साधारण सभा में दीपावली के अवसर पर चांदी के सिक्के एवं सोने के सिक्के बनाए जाने पर घोषणा की गई इस घोषणा पर सब सदस्यों का समर्थन प्राप्त हुआ।
इस पर सभी सदस्यों का यह भी सुझाव आया है कि ज्वेलर्स एसोसिएशन की पैकिंग जिस पर ज्वैलर्स एसोसिएशन का नाम तो होगा ही सही, यह पैकिंग एटीएम कार्ड की तरह होगी जिनमें 1 ग्राम 2 ग्राम 5 ग्राम  ग्राम 10 ग्राम के शुद्ध सोने के सिक्के, पैक कर उन सिक्कों पर ज्वेलर्स एसोसिएशन कोटा (रजिस्टर्ड) का नाम अंकित करवा कर एवं शुद्ध चांदी के सिक्के 10 ग्राम 20 ग्राम और 50 ग्राम और 100 ग्राम भी ज्वेलर्स एसोसिएशन कोटा (रजिस्टर्ड) की मोहर भी होगी और नाम भी अंकित होगा और शुद्धता की गारंटी भी होगी।

महासचिव ओम जैन सर्राफ ने बताया कि ज्वेलर्स एसोसिएशन की इस शानदार पहल पर कोटा की ही नहीं अपितु हाडोती की जनता को सोने व चांदी के सिक्के पूरी शुद्धता के साथ बाजार में ज्वेलर्स दुकानदारों के पास उपलब्ध करवाए जाएंगे। उन्होंने बताया कि अगर किसी तरह बाजार में सिक्कों की उपलब्धता में कमी आई तो ग्राहक प्रत्यक्ष रूप से ज्वेलर्स एसोसिएशन कोटा (रजिस्टर्ड) के पदाधिकारियों से बात कर, सिक्के उपलब्ध करवाने का प्रयास किया जाएगा।
ज्वेलर्स एसोसिएशन की साधारण सभा होने के बाद कई मनोरंजक, आकर्षक, शानदार प्रतियोगिताएं भी संपन्न हुई और अंत में ज्वेलर्स एसोसिएशन कोटा (रजिस्टर्ड) के सभी सदस्यों का अंत में धन्यवाद दिया।