मोशन का मार्गदर्शन सेमिनार- तैयारी की जल्दी शुरुआत है सबसे बेहतर आगाज

 
Motion Guidance Seminar - Early preparation is the best start

कोटा। Motion education-मोशन एजुकेशन फाउंडेशन डिवीजन के अकेडमिक हैड मुकेश गौड़ ने कहा कि JEE और NIT जैसी परीक्षाओं में प्रतिस्पर्धा का स्तर बहुत अधिक बढ़ गया है। इनमें लाखों की संख्या में अभ्यर्थी शामिल होते हैं। 1-1 नंबर का अंतर बच्चों को करियर में काफी आगे या पीछे कर देता है। ऐसे में सफलता सुनिश्चित करने के लिए ज्यादा जरूरी है कि प्रतियोगिता परीक्षा (Competitive exam) की तैयारियां कम उम्र से ही शुरू कर दी जाए।

Motion Guidance Seminar - Early preparation is the best start

गौड़ रविवार को मोशन एजुकेशन के द्रोण कैम्पस (Drona Campus of Motion Education) में मार्ग दर्शन सेमिनार के दौरान  कक्षा 8 से 10 तक के बच्चों और अभिभावकों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि यह किसी बच्चे की जिंदगी में वह समय होता है जब उसको पता नहीं होता कि उसे जाना किस दिशा में है। कौनसा करियर या प्रोफेशन अपनाना है। हम उनको बताते हैं कि उनका मजबूत पक्ष क्या है और उसके लिए  क्या करना ठीक रहेगा। उसी के हिसाब से उसको नर्चर किया जाता है। जैसे किसी बच्चे का रुझान इंजीनियरिंग या मेडिकल में है तो इस क्षेत्र में जाने की राह निश्चित करने के लिए उसको मैथ्स, साइंस जैसे ओलम्पियाड या एनटीएसई जैसे एग्जाम की तैयारी करवाई जाती है। हमारा अनुभव कहता है, ऐसे बच्चों की सक्सेस रेट अधिक होती है।

Motion Guidance Seminar - Early preparation is the best start

 इस अवसर पर फाउंडेशन डिवीजन के स्कूल इंटीग्रेटेड प्रोग्राम, डे बोर्डिंग प्रोग्राम और इवनिंग प्रोग्राम के बारे में बताया गया। इवनिंग प्रोग्राम के तहत सप्ताह में चार दिन शाम 4 से 7 बजे तक कक्षाएं लगती है। इसके तहत शहर में मोशन के लर्निग सेंटर पर सभी विषयों की कोचिंग दी जाती है तथा प्रतियोगिता परीक्षाओं की तैयारी करवाई जाती है। सभी विषयों के ओलिंपियाड के साथ-साथ स्कूल एग्जाम की भी तैयारी करवाई जाती है। 

सेमिनार के दौरान विद्यार्थियों को विभिन्न ओलम्पियाड में आए सवालों की बुकलेट वितरित की गई। इसके 80 फ़ीसदी सवाल हल करने वालों को मोशन एजुकेशन के इवनिंग प्रोग्राम में स्कॉलरशिप दी जाएगी। सेमिनार में लॉटरी निकालकर भी कई विद्यार्थियों को 50 फीसदी तक की स्कॉलरशिप दी गई ।