पूर्व मंत्री और सांगोंद MLA को कोटा दक्षिण विधायक संदीप शर्मा ने कहा- पत्र सम्राट, पत्रों के माध्यम से लोगों को कर रहे भ्रमित

कहा- जनता से जुडे मुद्दों को उठाना तो दूर, आम जनता को भी कर रहे भ्रमित।
- आपकी सरकार होने के बावजूद भी उच्च अधिकारी और नेता आपकी बातों पर नहीं देते कोई ध्यान। 
 
Kota South MLA Sandeep Sharma said to former minister and Sangond MLA - Letter Emperor, confusing people through letters
कोटा। विधायक संदीप शर्मा (MLA Sandeep Sharma) ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा कि पूर्व मंत्री जिन्हें पत्र लिखने में सिद्धता हासिल (proficiency in writing letters) है तथा बडें-बडें नेताओं के खिलाफ पत्र लिख कर और पत्र को सोशल मिडिया में वायरल (letter viral in social media) कर भोली भाली जनता की वाह वाही लूटतें हैं, आम जनता से जुड़ी समस्याओं को उठाना तो दूर की बात है, जनता को आए दिन पत्रों के माध्यम से भी भ्रमित कर रहे हैं, इनकी ही सरकार में इनके ही मंत्री और मुख्यमंत्री इनकी नहीं सुन रहे (In his own government, his own ministers and chief ministers are not listening to him.)।

कोटा जिले के सांगोद विधानसभा क्षेत्र से विधायक भरत सिंह (MLA from Sangod Assembly Constituency Bharat Singh) इन दिनों पत्रों के माध्यम से लोगों को भ्रमित करने का कार्य कर रहे हैं। सांगोद विधानसभा के जो जन कल्याण के मुद्दे हैं उन्हें नहीं उठा रहे जबकी, उनकी ही सरकार के मंत्रियों को भ्रष्ट बता रहे हैं। आए दिन पत्रों को माध्यम से अनावश्यक, अनर्गल बयानबाजी कर रहे हैं। अपनी विधानसभा से दूर वह कोटा में निवास करते है। राजस्थान के तमाम मामलों में आप हस्तक्षेप करते है।

 विधायक संदीप शर्मा ने कहा कि में भरत सिंह जी से पूछना चाहता हूं कि आप आपकी राजस्थान सरकार से खुश है या नहीं, आप आपकी विधानसभा के लोगों का प्रतिनिधित्व करते है और जनप्रतिनिधी होने के नाते क्षैैत्रवासियों की समस्याओं को ध्यान में रखते हुए आपके द्वारा आपके विधानसभा क्षैत्र में लोगो के लिए पेयजल, कानून, चिकित्सा सुविधाओं का विस्तार, बदहाल सड़कों को सुधारने का कार्य, सिचाई के लिए योजनाओं का क्रियान्वयन, पेयजल हेतु पाईप लाईन डालने का कार्य, किसानों से जुड़ी समस्या, बेरोजगारी, मजदूर व निर्धन आदि की सुविधाओं को उपलब्ध करवाने के लिए आपके द्वारा आपकी सरकार से आज तक क्या प्रयास किए गए।

आपके द्वारा केवल पत्र लिख कर लोगों को भ्रमित किया गया है। आपके द्वारा आज तक जनता से जुडें मामलों में सरकार के पक्ष और विपक्ष में रहकर कोई संघर्ष नहीं किया गया, आप धरातल से दूर हवा हवाई बाते करने में महारथ हांसिल रखते हैं। ना ही किसी प्रकार का धरना या प्रदर्शन किया गया और ना ही कोई संघर्ष किया गया। अब जनता भी आपके झूठे इरादों और आपके सोशल मिडिया में वाइरल पत्रों के बारे में जान चुकी है कि सरकार आपकी होने के बावजूद भी सरकार में बैठे उच्च अधिकारी और नेता आपकी बातों पर कोई ध्यान नहीं देते, आपके निकट के मंत्री तक आपके पत्रों को गंभीरता से नहीं लेते। जब आपकी सरकार ही आपकी नहीं सुन रही तो अनावश्यक लोगों को क्यों भ्रमित कर रहे हैं।