कोटा : हर मरीज की मदद के लिए ईश्वर मददगार भेजता है- प्रज्ञेश यादव

- टीम जीवदाता के प्रयास से डेंगू रोगी को देर रात मिली एसडीपी  
 
Kota: God sends a helper to help every patient - Pragyash Yadav
कोटा, (विशाल उपाध्याय)। कोटा में डेंगू पैर पसार रहा है (Dengue is spreading in Kota) , गंभीर मरीजों को एसडीपी की आवश्यकता निरंतर हो रही (The need for SDP is increasing continuously for serious patients.) है। ऐसे में टीम जीवनदाता जीवनदायिनी (Team Jeevandata Jeevandayini) बनकर सामने आई है। प्रतिदिन रोगियों को नियमित एसडीपी उपलब्ध कराए जाने के लिए सुबह से लेकर रात तक प्रयास किए जा रहे हैं। 

टीम जीवनदाता के संयोजक व लायंस क्लब के रीजन चेयरमैन भुवनेश गुप्ता ने बताया कि शनिवार को निजी अस्पताल में भर्ती मरीज मंजू बुंदेल की प्लेटलेट 6 हजार रह गई थी, परिजन बेहद चिंतित हो रहे थे, डोनर की तलाश करने पर भी शहर में डोनर नहीं मिल पा रहे थे, समय बीतता जा रहा था और रात का समय तेजी से बढ़ रहा था। ऐसे में भुवनेश गुप्ता ने प्रयास किए तो गायत्री परिवार में सेवा समर्पण के रूप में कार्य करने वाले प्रज्ञेश यादव को कॉल किया तो वह तैयार हो गए।

 लेकिन शनिवार को वैवाहिक कार्यक्रम काफी थे। वे भी एक कार्यक्रम में व्यस्त थे। उनका पूरा परिवार सेवाभावी है। पिता खेमराज यादव भी नियमित एसडीपी व ब्लड डोनेट करते हैं। प्रज्ञेश रात 12 बजे तलवंडी स्थित अपना ब्लड सेंटर पहुंचे और ए पॉजिटिव एसडीपी डोनेट की। रात करीब 3 बजे मरीज के परिजनों को एसडीपी उपलब्ध करवाई गई। 

प्रग्येश यादव ने कहा कि घर में दान की परिपाठी चली आ रही है, चाहे दान जीवनदायनी दृव्य का हो या वस्तु का, जहां तक संभव होता है, दान किया जाता रहा है। उन्होंने कहा कि हम सभी को ईश्वर ने देने का भाव दिया है, देने से कुछ कम नहीं होता बल्कि बढ़ता है। हम सभी को सेवा के लिए निरंतर तत्पर रहना चाहिए। इस अवसर पर ब्लड बैंक स्टॉफ ने उनका माल्यार्पण कर अभिनंदन किया और प्रशस्ति पत्र भेट किया।