देश की अनूठी देवनारायण एकीकृत आवासीय योजना, कोटा को कैटल फ्री शहर बनाने एंव पशुपालकों के जीवन में आमूलचूल परिवर्तन करने का प्लान

 
Country's unique 'Devnarayan Integrated Housing Scheme', plan to make Kota a Cattle Free City and make a radical change in the lives of livestock farmers.

कोटा । नगरीय विकास एंव स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल की पहल (UDH Minister Shanti Dhariwal's initiative) कोचिग सिटी कोटा को कैटल फ्री शहर बनाने (Making Coaching City Kota a Cattle Free City) एंव पशुपालकों के जीवन में आमूलचूल परिवर्तन करने वाली देश की अनूठी  देवनारायण एकीकृत आवासीय योजना (The country's unique Devnarayan Integrated Housing Scheme, which has made a radical change in the lives of livestock farmers) में अब पशुपालकों को जल्द शिफ्ट किया जाएगा (cattle farmers will be shifted soon)। कोटा नगर विकास न्यास के चेयरमैन जिला कलेक्टर हरिमोहन मीणा की अध्यक्षता में आज कोटा नगर विकास न्यास द्वारा तैयार की गई इस यूनिक योजना में पशुपालकों की शिफ्टिंग को लेकर विभिन्न विभागो की समन्वय बैठक आयोजित की गई ।

मई माह के प्रथम सप्ताह में गाजे बाजे के साथ पशुपालकों का गृह प्रवेश यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल की मौजूदगी में करवाया जाएगा। योजना को लेकर न्यास मीटिंग हॉल में आयोजित हुई बैठक में जिला कलेक्टर ने योजना की तैयारियों का फीडबैक लिया साथ ही उन्होंने योजना से संबधित विभागो को कार्ययोजना के अनुरूप जल्द कार्य करने के निर्देश भी दिए । न्यास के ओएसडी आरडी मीणा ने प्रजेन्टेशन के जरिए इस अनूठी योजना के उर्देैर्श्य देश की अन्य योजनाओ से आधुनिकतम सुविधाएं एवं पशुपालकों के लिए विकसित की गई तमाम सुविधाओं के बारे में बैठक में मौजूद विभिन्न विभागों के अधिकारियों को जानकारी दी साथ ही नगर निगम, पुलिस विभाग, विधुत वितरण निगम, जल संसाधन, आरटीओ, डेयरी सहित अन्य विभागों द्वारा योजना के तहत किए जाने वाले कार्यो में सहयोग संबद्वता के साथ करने के निर्देश दिए ।

न्यास सचिव राजेश जोशी ने पशुपालकों के लिए न्यास द्वारा तैयार की गई योजना के पूर्ण होने होने इस योजना के तहत सरकार द्वारा दी जा रही सभी रियायतो , सुविधाओं के बारे में जानकारी देते हुए प्रदेश की नही देश की अनूठी योजना बताया। बैठक में पशुपालकों की शिफ्टिंग से पूर्व की तैयारियों को पुलिस नगर निगम सहित अन्य विभागों के अधिकारियों से चर्चा की गई । आपको बता दे कोटा नगर विकास न्यास द्वारा बंधा धर्मपुरा में करीब 300 करोड की देवनारायण योजना पशुपालकों के लिए विकसित गई है। जिससे आवास के साथ पशुओं के लिए बाडे सहित अन्य सुविधाओं के विकसित किया गया है साथ ही परिसर में ही चिकित्सालय, विधालय, पुलिस चौकी, प्रशासनिक भवन, गोबर गैस संयंत्र, दुग्ध मंडी सहित तमाम सुविधाओं को प्राकृतिक वातावरण में उपलब्ध करवाई जा रही है।

पहले फेस में कोटा दक्षिण निगम क्षेत्र के पशुपालकों का गृह प्रवेश करवाया जाएगा । शिफ्टिंग से पूर्व विशेष कैंप लगाकर आवंटियो को बिजली, पानी के कनेक्शन की प्रक्रिया को संपन्न किया जाएगा। बैठक में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रवीण जैन, नगर के आयुक्त वासुदेव मालावत, कीर्ति राठौड़, न्यास के उप सचिव मोहम्मद ताहिर, मुख्य अभियंता ओपी वर्मा , अधीक्षण अभियंता राजेन्द्र राठौर सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।