कोटा में केन्द्र सरकार के 15वें कॉमन रिव्यू मिशन दल ने ली स्वास्थ्य अधिकारियों की बैठक

 
Central Government's 15th Common Review Mission team held a meeting of health officials in Kota
कोटा (के के कमल)। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय का 15वां कॉमन रिव्यू मिशन का 7 सदस्यीय मॉनीटरिंग दल (7 member monitoring team of 15th Common Review Mission of Union Health Ministry) ने रविवार सुबह स्वास्थ्य भवन सभागार में जिला स्तरीय अधिकारियों की बैठक ली (Took a meeting of district level officers in the health building auditorium)। टीम में 7 सदस्य सदस्य हैं। 

बैठक में संबधित स्वास्थ्य कार्यक्रमों के प्रभारी और राष्ट्रीय स्वास्थ्य कार्यक्रमों से जुड़े कंसलटेन्ट्स व कॉर्डिनेटर्स ने पीपीटी प्रजेन्टेशन के माध्यम से स्वास्थ्य कार्यक्रमों की ग्राम स्तर तक उपलब्धि व प्रगति से अवगत कराया। इस दौरान सीएमएचओ डॉ जगदीश कुमार सोनी, आरसीएचओ डॉ देवेन्द्र झालानी, डिप्टी सीएमएचओ डॉ घनश्याम मीणा, डीटीओ डॉ एसएन मीणा, जिला औषधी भण्डार प्रभारी डॉ आलोक शर्मा, डीपीएम नरेन्द्र वर्मा सहित एनएचएम के अन्य सलाहकार व कॉर्डिनेटर्स ने संबधित कार्यक्रमों की जानकारी दी। टीम ने मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य संबधी सेवाओं और कार्यक्रमों, टीकाकरण, आरसीएच, परिवार कल्याण कार्यक्रमों सहित राष्ट्रीय व वर्टिकल कार्यक्रमों के साथ केन्द्र व राज्य सरकार द्वारा संचालित स्वास्थ्य योजनाओं, चिरंजीवी, एमएनडीवाई, एमएनजेवाई, जेएसवाई, आरएसवाई, टीबी, पीसीपीएनडीटी, मौसमी बीमारियांे की स्थिति और आंकड़ों का बारीकी से अवलोकन किया। 

टीम इस दौरान ऑवरऑल स्वास्थ्य सेवाओं की प्रगति से संतुष्ट दिखी लेकिन संस्थागत प्रसव सेवाओं में और अधिक मजबूती व गुणवत्ता पर ध्यान देने की जरूररत बताई और संस्थागत प्रसव में प्रगति लाने की बात कही। टीम ने जिले में चारों एफआरयू (सांगोद, इटावा, रामगंजमण्डी, सुल्तानपुर) चिकित्सा संस्थानों में जरूरी मेन पॉवर और संसाधन जुटाकर फंक्शनल और उपयोगी बनाने तथा प्रति एफआरयू माह कम से कम दो सीजेरियन प्रसव केस कराने पर जोर दिया। 

सीएमएचओ डॉ सोनी ने बताया कि यह दल 10 नवम्बर तक फिल्ड में घूमकर राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अंतर्गत संचालित विभिन्न चिकित्सा सेवाओं और स्वास्थ्य कार्यक्रमों की प्रगति को जांचकर रिपोर्ट राज्य सरकार व केन्द्र सरकार को सौपंेगा। टीम को सीनियर रिजनल डायेक्टर डॉ दीपक सक्सेना लीड कर रहे हैं। जबकि स्टेट से एसएमओ मातृ स्वास्थ्य डॉ अभिनव अग्रवाल भी टीम के साथ है।