स्वायत्त शासन मंत्री ने हिट एंड रन मामले में घायलों से मिलकर जानी कुशलक्षेम, मृतक आश्रितों को सौपा 1 लाख का चैक

 -परिवार को पालनहार एवं पेंशन योजना का मिलेगा लाभ
-घुमन्तु एवं मोगिया जाति के लोगों का सर्वे करवाकर दिलाया जायेगा आवास योजना का लाभ
 
Autonomous Government Minister met the injured in the hit and run case, got to know about the well being, handed over a check of 1 lakh to the dependents of the deceased

कोटा। स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल (UDH Minister Shanti Dhariwal) ने हिट एंड रन मामले में मैत्री अस्पताल (Maitri Hospital in hit and run case) में उपचारधीन घायलों से (From the injured) रविवार को मिलकर उनकी कुशलक्षेम पूंछी तथा अधिकारियों को इलाज के लिए समुचित व्यवस्था करने के निर्देश दिये। उन्होंने मृतक दिनेश बागरी के आश्रितों को एक लाख रूपये की आर्थिक सहायता (Financial assistance of one lakh rupees to dependents) उपलब्ध करवा कर बच्चों का पालनहार योजना (Foster plan) एवं पात्रतानुसार परिवार को सरकार की कल्याणकारी योजनाओं का लाभ दिलाने के निर्देश दिये।

स्वायत्त शासन मंत्री ने उपचाराधीन घायलों के लिए की जा रही व्यवस्थाओं की जानकारी ली तथा इलाज के लिए विशेष टीम गठित करने बेहत्तर सुविधाऐं उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि इस तरह की घटना दुर्भाग्यपूर्ण है, भविष्य में इस प्रकार की घटना नहीं हो इसके लिए अधिकारियों को सुधारात्मक कदम उठााने के निर्देश दिये गये है। उन्होंने मृतक दिनेश बागरी की मॉ को एक लाख रूपये की सहायता राशि का चैक सौंपा तथा आश्वस्त किया कि सरकार की कल्याणकारी योजनाओं में पात्रता के अनुसार चयन कर परिवार के सभी सदस्यों की सहायता की जायेगी। उन्होंने अधिकारियों को मृतक के सभी बच्चों का विशेष प्रकरण बनाकर पालनहार योेजना में लाभ प्रदान करने, परिवार को रहने के लिए रैन बसेरे में व्यवस्था करने, भोजन के लिए इन्दिरा रसोई योजना में निशुल्क भोजन उपलब्ध करवाने के निर्देश दिये।

संभागीय आयुक्त दीपक नन्दी ने बताया कि घायलों के इलाज की समुचित व्यवस्था की जाकर उन्हें स्वायत्त शासन मंत्री के निर्देशों की पालना में सभी सुविधाऐं शीघ्र उपलब्ध कराई जायेगी। अधिकारियों को परिवार से सम्पर्क कर सभी व्यवस्था करने के निर्देश दिये गये है। पुलिस अधीक्षक शहर केसरसिंह ने बताया कि हिट एंड रन के मामलें में दोषी के खिलाफ इरादतन हत्या का मामला दर्ज किया गया है। उन्होंने नागरिकों से अपील की है कि शहर में वाहन चलाते समय नियमों का पालन करें अन्यथा पुलिस द्वारा सख्त कार्रवाही की जायेगी।

घुमन्तु परिवारों का होगा सर्वे-
स्वायत्त शासन मंत्री ने कहा कि शहर में अस्थाई रूप से रह रहे सभी धुमन्तु परिवार एवं मोगिया जाति के लोगों का सर्वे करवाकर आवास के लिए निशुल्क भूमि आवंटन करवाई जायेगी। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार द्वारा ऐसे परिवारों को निशुल्क भूमि आवंटन का प्रावधान किया हुआ है। साथ ही सभी पात्र परिवारों को पीएम आवास योजना का लाभ भी दिलाया जायेगा। उन्होंने बताया कि नगर निगम को निर्देश दिये है कि ऐसे परिवार जो खुले में सोते है उन्हें रैन बसेरों में रहने के लिए व्यवस्था करने के निर्देश दिये गये है।

ये मिली सहायता-
स्वायत्त शासन मंत्री ने परिवार को एक लाख रूपये की सहायता का चैक सौंपा, 6 बच्चों का पालनहार योजना का लाभ, मृतकों को इलाज की सुविधा, विधवा पेंशन एवं बच्चों को शिक्षा की व्यवस्था करने के निर्देश दिये। परिजनों को रैन बसेरे में रूकने, इन्दिरा रसोई में निशुल्क भोजन उपलब्ध कराने के निर्देश दिये।

ये रहे उपस्थित-
इस अवसर पर अतिरिक्त कलक्टर शहर डॉ. महेन्द्र लोढा, सिलिंग एसएन आमेठा, आयुक्त नगर निगम वासुदेव मालावत, सचिव नगर विकास न्यास राजेश जोशी, अति. पुलिस अधीक्षक प्रवीण जैन, बाल कल्याण समिति की अध्यक्ष तलत फातिमा, सदस्य विमलचन्द जैन, आबिद अब्बासी, मधुबाला शर्मा, बाल संरक्षण विभाग के दिनेश शर्मा उपस्थित रहे।