सामाजिक समरसता का महाकुंभ होगा वैश्य समाज का अन्नकूट, जागरूकता पोस्टर का हुवा विमोचन

- 25 हजार समाजबंधु ग्रहण करेंगे श्रीनाथ जी की प्रसादी
- मंच से दिए जाएंगे समाज उत्थान के अनुकरणीय विभिन्न संदेश 
 
Annakoot of Vaish society will be the Maha Kumbh of social harmony, awareness poster released
कोटा, (विशाल उपाध्याय)। अखिल भारतीय वैश्य महासम्मेलन जिला कोटा द्वारा सभी घटकों को साथ लेकर आयोजित किए जा रहे देश के प्रमुख अन्नकूट महोत्सव के सफल आयोजन को लेकर तैयारियां अंतिम दौर में चल रही हैं। समाज के सभी घटक समन्वय स्थापित करते हुए अन्नकूट को ऐतिहासिक, यादगार बनाने के लिए पुरजोर प्रयास कर रहे हैं। 12वां अन्नकूट महोत्सव 13 नवंबर को सीएडी ग्राउंट में आयोजित किया जाएगा। शुक्रवार को सभी वैश्य समाज पदाधिकारियों व आयोजन समिति ने जागरूकता पोस्टर का विमोचन किया। 

अखिल भारतीय वैश्य महासम्मेलन जिला कोटा के अध्यक्ष दिनेश विजय व मुख्य संयोजक राकेश जैन ने बताया कि अन्नकूट में सामाजिक समरसता का महाकुंभ देखने को मिलेगा वहीं मंच से सामाजिक उत्थान के साथ कुरीतियों को त्यागने का संदेश दिया जाएगा। इस महाकुंभ में करीब 25 हजार समाजबंधु एक ही स्थान पर परिवारिक माहौल में अन्नकूट में प्रसाद ग्रहण करेंगे। स्वागत अध्यक्ष और कार्यकारी अध्यक्ष सुशील मोदी के अनुसार  कोविड के कारण दो वर्ष बाद आयोजित अन्नकूट को लेकर समाज के हर वर्ग में उत्साह है और हर व्यक्ति तक पहुंचने का प्रयास किया गया है। देशभर के समाजबंधु यहां आकर एकता का परिचय देने के साथ देश व समाज के विकास में अपनी भागीदारी देना भी सुनिश्चित करेंगे। 

- पलक पांवड़े पिछाकर होगा स्वागत अभिनंदन 
कार्यकारी अध्यक्ष राम विलास जैन, प्रदेश युवा अध्यक्ष मुकेश विजय व कोटा संभाग प्रभारी डॉ. आरके राजवंशी ने बताया कि इस दौरान 25 समितियां अपना कार्य बखूबी निभा रहीं हैं, इसके लिए उनके साथ कई युवाओं की टीम भोजन वितरण, मंच व्यवस्था, अतिथि सत्कार, पार्किंग, आमंत्रण, सोशल मीडिया, मंच समिति व अन्य व्यवस्थाओं में अपना योगदान देंगी। उन्होंने कहा कि हर व्यक्ति का आत्मीयता के साथ पलक पावडे बिछाकर स्वागत अभिनंदन होगा। विनम्रता और परिश्रम से इस अन्नकूट ने जो स्थान देश में बनाया है, इसे और भी आगे पहुंचाने का प्रयास किया जाएगा।

- ह्दय के गहनतम तल की भावनाओं से होगा वृद्धजनों का सम्मान 
जिला महामंत्री भुवनेश गुप्ता व जगदीश अग्रवाल ने बताया कि अन्नकूट महोत्सव में वैश्य समाज के 20 से 25 हजार लोगों के अन्नकूट में शामिल होने की संभावना जताई जा रही है। लोगों में अति उत्साह है, उमंग है। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला होंगे, अध्यक्षता यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल करेंगे।इसमें बतौर समाज बधुओ में अतिविशिष्ठ अतिथि कोटा नागरिक सहकारी बैंक के अध्यक्ष राजेश बिड़ला  , विशिष्ठ अतिथि में पूर्व महापौर महेश विजय,पूर्व विधायक पूनम गोयल, प्रदेश कांग्रेस सचिव पंकज मेहता, नगर निगम महापौर राजीव अग्रवाल , नगर निगम प्रतिपक्ष नेता विवेक राजवंशी ,इसके साथ ही अन्य जनप्रतिनिधि भी अन्नकूट महोत्सव में भाग लेंगे।  स्वागत अध्यक्ष सुशील मोदी और सहसंयोजक प्रकाश चंद गुप्ता रहेंगे। गुप्ता ने बताया कि 75 वर्ष से अधिक वयोवृद्ध लोगों का ह्दय के गहनतम तल की भावनाओं के साथ सम्मान किया जाएगा। अन्नकूट महोत्सव के दौरान ईडब्लूएस को लेकर भी विचार विमर्श किया जाएगा और समाज को इसका लाभ कैसे मिल सकता है, इस पर विषय विशेषज्ञ अपने विचार व्यक्त करेंगे। 

- एक हजार बिटिया जुटेंगी वैश्य महाकुंभ में 
वैश्य महिला अध्यक्ष रजनी गुप्ता व युवती अध्यक्ष महिमा बंसल ने बताया कि युवतियां व महिलाएं अन्नकूट में अपनी सक्रिय भागीदारी निभाते हुए अन्नकूट को सफल बनाएंगी। महिला संरक्षिका पुष्पांजलि विजय ने बताया कि अन्नकूट में किसी को भी परेशानी नहीं हो, अपनेपन के भाव से वातावरण में ममतामयी छटा बिखेरने का प्रयास किया जाएगा। आने वाले अतिथियों को अपने हाथों से भोजन कराने के लिए काउंटर पर भी महिलाएं रहेंगी और पूरी व्यवस्था संभलेंगी। ये ही नहीं वरिष्ठजन को बैठकर भोजन कराने से लेकर उनके सम्मान में महिलाओं की टीम रहेगी। महिला महामंत्री अंजू गोयल व महामंत्री रेणु अग्रवाल ने बताया कि समाज में कुरीतियां विद्मान हैं, उन्हें दूर करने के लिए मातृशक्ति तत्पर रहेगी। अन्नकूट के मंच से संकल्प लिया जाएगा की भारतीय संस्कृति को संजोते हुए विवाह की जो उम्र लगातार बढ़ती जा रही है और समाज में अधिक उम्र में शादियां हो रही हैं, जिस कारण से कई विसंगतियां सामने आ रही है, उसका भी उचित समाधान हो और ये संकल्प महिलाएं व युवतियां लेंगी, अन्नकूट में हर सामाजिक कुरीतियों पर कुठाराघात होगा। युवती महामंत्री लवी विजय के अनुसार अन्नकूट में बेटियों के द्वारा कुछ नवाचार किए जा रहे है जो वर्तमान परिप्रेक्ष्य में दूषित हो रही हमारी संस्कृति को बचाने में सहायक हो सकते है। साय 8 बजे समाजबंधु भजन संध्या में आध्यात्म का वातावरण बनाया जायेगा।

- 100 कारीगर, 1000 किलो सब्जी के साथ बनाएंगे अन्नकूट 
भोजनशाला संयोजक राम विलास जैन व द्वारका लाल खंडेलवाल ने बताया कि अन्नकूट को बनाए जाने के लिए उदयपुर, कोटा, जयपुर और भीलवाडा के 80 कारीगर व 20 सहयोगियों के साथ 1000 किलो सब्जी से अन्नकूट तैयार होगा, इसके साथ ही 20 क्विंटल शंकर, 100 पीपे तेल, 60 कट्टे आटा, 15 टीन देशी घी, 80 किलो मिर्च, 50 किलो धनिया और अन्य खाद्य पदार्थों से अन्नकूट में अन्नपूर्णा मां की कृपा रहेगी। उन्होंने कहा कि भोजन परोसगारी में भी सुविधाएं ऐसी होगी की किसी को कोई परेशानी नहीं होगी। वृद्धों को समाज की बेटियां अपने हाथों से खाना परोसकर उन्हें सम्मान प्रदान करेंगी। इसके अलावा, हर व्यक्ति को प्लेट देना, उनका अभिनंदन करना भी प्राथमिकता में होगा, युवतियां व महिलाएं एक जैसी ड्रेस कोड का पालन कर समरसता का आदेश  देंगी। 

कूपन से जोड़ा जा रहा है 25000 समाज बंधुओ को
कूपन संयोजक व कोषाध्यक्ष सत्यप्रकाश गुप्ता व कार्यकारी अध्यक्ष रवींद्र कुमार गुप्ता ने बताया कि कूपन एक ऐसा माध्यम से जिससे सभी घटकों के एक एक सदस्य को जोड़ा जा रहा है। इसमें पीले चावल बांटकर सभी को आमंत्रित भी किया गया जिसे परिवारिक माहोल दिख सके।

- अन्नकूट में ये रहेगा खास
युवा अध्यक्ष राम बाबू गुप्ता व महामंत्री अनुपम गुप्ता ने बताया कि अन्नकूट में भगवान श्रीनाथ की अनुपम झांकी होगी जो थ्रीडी लुक में होगी। इसके अलावा विभिन्न संदेश देते हुए बैनर पोस्ट होंगे जो सामाजिकता का संदेश देंगे। वहीं कई कुरीतियों को मंच से छोडने का भी संदेश होगा। युवती अध्यक्ष महिला बंसल व लवि विजय ने बताया कि महिलाओं और युवतियों की भी अन्नकूट में सक्रिय भागीदारी रहेंगी। युवतियां समाज में समय पर शादी कराए जाने का संदेश देंगी ताकी भविष्य में जो परेशानियां आ रही है, उससे निदान मिले, साथ ही दहेज देंगे ना ही लेंगे का संदेश दिया जाएगा। पूरा अन्नकूट महोत्सव पॉलिथिन मुक्त होगा, इसके अलावा हर व्यवस्थाओं में युवतियों का सहयोग रहेगा।