पुलिस थाने में रखी अलमारी में रखे ASI के जेवर और नकदी गायब, IG के आदेश पर केस दर्ज

 
ASI's jewelery and cash kept in the cupboard kept in the police station missing, case registered on the orders of IG

कोटा। शहर के गुमानपुरा पुलिस थाने की अलमारी में से सहायक पुलिस उप निरीक्षक के जेवरात व नकदी गायब होने का मामला (The case of the disappearance of jewelery and cash of Assistant Sub Inspector of Police from the cupboard of Gumanpura police station in the city) सामने आया है। सहायक उप निरीक्षक रामकरण नागर ने इस मामले में थाने के दस पुलिसकर्मियों के खिलाफ पुलिस महानिरीक्षक को शिकायत की है।

पीड़ित नागर करीब डेढ़ माह तक अपनी रिपोर्ट दर्ज करवाने की कोशिश में जुटा रहा, लेकिन थानाधिकारी और पुलिस अधीक्षक ने महकमे की बदनामी के भय से रिपोर्ट दर्ज नहीं की। आखिरकार नागर पुलिस महानिरीक्षक प्रसन्न कुमार खमेसरा से मिले तो उनकी रिपोर्ट 31 अगस्त की रात को दर्ज की गई।

एएसआई की पत्नी के थे जेवरात
साल, 2021 में गुमानपुरा पुलिस थाने में नागर तैनात थे। उस दौरान उनकी पत्नी मांगी देवी की कोरोना महामारी के दौरान मौत हो गई थी। इस पर उन्होंने पत्नी के सभी जेवरात और डेढ़ लाख की नकदी पुलिस थाने की अलमारी में रख दी थी। उसके बाद उन्होंने दो बार अलमारी खोलकर देखी तो जेवरात व नकदी सुरक्षित थे। 25 अप्रैल, 2022 को नागर को एक धोखाधड़ी की जांच करने वाली टीम में शामिल किया गया। इस पर वे प्रकरण के निस्तारण में लग गए।

जांच के सिलसिले में उन्हें कोटा से बाहर भी जाना पड़ा। जुलाई के दूसरे सप्ताह में उन्होंने अलमारी खोली तो जेवरात और नकदी गायब मिले, जबकि अलमारी की चाबी उनके पास थी। वह अलमारी में से जेवरात बैंक के लाकर में रखना चाहते थे। इस पर नागर ने साथी पुलिसकर्मियों से पूछताछ की तो संतोषजनक जवाब नहीं मिला। उन्होंने थाना अधिकारी और पुलिस अधीक्षक को इस घटना की जानकारी दी। लेकिन वहां से उन्हें कोई मदद नहीं मिली। दोनों अधिकारी नागर को दो-तीन दिन बाद मिलने की बात बार-बार कहते रहे। इस तरह से एक महिना निकल गया। आखिर में वे महानिरीक्षक से मिले तो रिपोर्ट दर्ज हुई।

नागर ने बताया कि 20 मई से लेकर 16 जुलाई, 2022 की रात तक तहरीर रोजनामचा पर ड्यूटी पर आजाद, उमाशंकर, विजय, दिनेश, मूलाराम, विष्णु, रतन सहित दस पुलिसकर्मी थे। अब रिपोर्ट दर्ज होने के बाद मामले की जांच होगी।