बारां में कोटा ACB ने 17 हजार की रिश्वत लेते उद्यान विभाग के सहायक कृषि अधिकारी को किया गिरफ्तार

 
आरोपी राजकमल मीणा
 बारां। भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरों की टीम ने बारां में बड़ी कार्रवाई करते हुए उद्यान विभाग के सहायक कृषि अधिकारी को 17 हजार रूपये की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। यह कार्रवाई बारां कलेक्ट्रेट में ही कोटा एसीबी की टीम ने अंजाम दी है। आरोपी राजकमल मीणा ने परिवादी से 22 हजार रुपए रिश्वत राशि ली थी। यह राशि दो हिस्सों में गुरुवार को ही ली है, जिसमें 5 हजार रुपए पहले और सत्यापन के बाद 17 हजार रूपये रिश्वत ली है।

एसीबी की अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रेरणा शेखावत ने कहा कि सुबह परिवादी रजनीकांत रावत ने शिकायत की थी। इसमें बताया था कि वे गौतम सोलर कंपनी के डिलर हैं। उनकी फर्म सोलर लगाने का काम करती है, परिवादी का कहना है कि प्रधानमंत्री कुसुम योजना के तहत उन्होंने बारां जिले में 24 किसानों के खेत पर 5 एचपी की सोलर पंप स्थापित किए थे। इसके लिए राज्य सरकार से सब्सिडी मिलती है। परिवादी किसानों के सोलर पंप लगाए जाने के बाद कंपनी को भुगतान किया जाता है। कंपनी को भुगतान होने के बाद कंपनी डीलर को कमीशन का भुगतान करती है। भुगतान के लिए उनकी 24 फाइलें उद्यान विभाग बारां को भेजी गई थी।
जिनमें से 19 फाइलों पर कंपनी को भुगतान कर दिया गया, जबकि शेष 5 फाइलें रोक ली गई हैं। इन 24 फाइलों के 1000 प्रति फाइल के अनुसार 24 हजार रुपए आरोपी सहायक कृषि अधिकारी राजकमल मीणा डिमांड कर रहा था।
शिकायत के बाद एसीबी की टीम ने सत्यापन कराया, जिसमें रिश्वत मांगने की बात सामने आई, इस मामले में 5000 रुपए रिश्वत ली। इसके बाद एसीबी ने ट्रैप के लिए जाल बिछाया, जिसमें बारां कलेक्ट्रेट में आरोपी सहायक कृषि अधिकारी राजकमल मीणा ने 17 हजार रुपए रिश्वत लेकर पैदल जाने लगा, फिर उसे अपनी बाईक की याद आई जैसे ही बाईक स्टार्ट की वैसे ही एसीबी ने आरोपी राजकमल मीणा को गिरफ्तार कर लिया। रिश्वत के रुपए राजकमल की जेब से बरामद कर लिए गये।