महिला से पुजारी ने किया दुष्कर्म, कहा- 108 दिन में 21 बार संबंध बनाने से कालसर्प दोष होगा दूर

 
The woman was raped by the priest, said - by making a relationship 21 times in 108 days, Kalsarp Dosh will be removed

जालौर। जिले के जाणीपुरा गांव में स्थित भगवान दत्तात्रेय आश्रम में काल सर्पदोष  दूर करने के नाम पर पुजारी द्वारा एक महिला के साथ दुष्कर्म करने का मामला (A case of raping a woman by a priest) सामने आया है। पीड़िता ने पुलिस में दर्ज करवाई रिपोर्ट (The victim filed a report with the police) में बताया कि पुजारी ने उससे कहा कि 108 दिन में 21 बार मेरे साथ संबंध बनाने (build relationships) पड़ेंगे, जिससे तुम्हारा काल सर्पदोष मेरे ऊपर आ जाएगा।

पुजारी ने संबंध बनाने का दबाव बनाया तो पीड़िता ने इनकार कर दिया। इस पर 19 फरवरी, 2022 को पीड़िता को धोखे से आश्रम में बुलाया। आश्रम की संचालिका हेमलता जबरन उसे पुजारी के कमरे में लेकर गई। वहां हेमलता ने उसके मुंह में कपड़ा ठूंस दिया और पुजारी ने दुष्कर्म किया। दुष्कर्म का हेमलता ने मोबाइल से वीडियो भी बनाया। इसके बाद पुजारी और हेमलता उसे बार-बार आश्रम में बुलाने लगे। पीड़िता द्वारा इनकार करने पर वीडियो वायरल करने की धमकी दी गई। दोनों ने पीड़िता के परिजनों को जान से मारने की धमकी भी दी। पुजारी और हेमलता द्वारा परेशान किए जाने से आहत होकर पीड़िता ने सरवना पुलिस थाने में डाक से शिकायत भेजी।

सरवना पुलिस थाना अधिकारी किशनाराम बिश्नोई ने बताया कि डाक के जरिए 27 जुलाई को एक शिकायत मिली है। इसमें एक महिला ने आरोप लगाया है कि उसके पति और ससुर की भगवान दत्तात्रेय आश्रम में आस्था है। पीड़िता ने शिकायत में लिखा कि स्वास्थ्य खराब रहने पर मैं आश्रम में गई, तो वहां हेमलता पुजारी तगाराम के पास लेकर गई। तगाराम ने अवैध संबंध बनाने से उपचार होना बताया। पीड़िता का आरोप है कि इससे पहले नवंबर, 2021 में भी एक बार तगाराम ने कमरे में अश्लील हरकत की थी, लेकिन वह उसके पास से बचकर निकल गई थी। थाना अधिकारी ने कहा कि महिला के बयान दर्ज कर आगे कि जांच कि जाएगी। 
उधर, हेमलता ने कहा कि महिला का आरोप सरासर गलत है। 19 फरवरी को आश्रम में काफी लोग मौजूद थे। ऐसे में उसके साथ जबरन दुष्कर्म कैसे किया जा सकता है। वह उस दिन आश्रम में आई ही नहीं।