दो जिलों के दर्जनों गांवों को सीधा जोड़ने वाली सड़क पर जख्म गहरे- जिम्मेदारों ने साधा मौन

 
सडक पिछले कई वर्षों से डामरीकरण के अभाव में गहरे गड्ढों में तब्दील

जयपुर/चाकसू,(मुकेश यादव)। चाकसू उपखंड क्षेत्र के कादेडा से तामडिया सडक पिछले कई वर्षों से डामरीकरण के अभाव में गहरे गड्ढों में तब्दील हो गई।जिससे आवागमन में काफी परेशानी होती हैं।स्थानीय ग्रामीणों ने कई बार सार्वजनिक निर्माण विभाग व चाकसू विधायक वेदप्रकाश सोलंकी सहित सासंद जसकौर मीणा को अवगत कराने के बाद भी प्रशासनिक अधिकारियों एवं जनप्रतिनिधियों ने अभी तक सडक की सुध नहीं ली।

दो जिलों के दर्जनों गांवों को सीधा जोड़ने वाली सड़क पर जख्म गहरे

तामडिया-खेजड़ी बुजुर्ग के लोगों ने आक्रोश जताते हुए कहा की कादेडा से तामडिया सडक टोंक व जयपुर जिले के लगभग 30 से अधिक गावों को सिधा जोडने के साथ ही तामडिया में प्रसिद्ध भैरूजी मंदिर व रामधाम आश्रम स्थित होने से प्रतिदिन सैकड़ों की संख्या में लोगों का वाहनों से आवागमन रहता है।एवं आसपास के गांवों के लोग रोजगार के लिए सीतापुरा इन्डस्ट्रीज एरिया में एवं आवश्यक कार्यों के लिए जयपुर जाने के लिए इसी सडक से होकर गुजरते हैं। सडक के खस्ताहाल होने से 4 किलोमीटर का सफर तय करने में लोगों को 40 से 50 मिनट का समय लगता है। एवं गहरे गड्ढों से लोगों के चोटिल होने के साथ ही वाहन भी क्षतिग्रस्त हो जाते है।

तामडिया से खेजड़ी तक 3 किलोमीटर लम्बी सडक़ की टेण्डर प्रक्रिया लगभग 10 माह पहले होने के बाद भी ठेकेदार व सार्वजनिक निर्माण विभाग की लापरवाही के चलते अभी तक कार्य शुरू नहीं हो सका।सार्वजनिक निर्माण विभाग चाकसू के अधिशाषी अभियंता दिनेश कुमार फुलवरिया ने कहा की मुख्यमंत्री कोष से चाकसू विधानसभा क्षेत्र में खराब पडी हुई तीन सडकों का निर्माण कार्य करवाया जाना प्रस्तावित है।जिनके लिए प्रस्ताव मांगे गए थे।जिनमें दूसरा प्रस्ताव कादेडा से खेजड़ी सडक़ का भेजा गया है।स्वीकृति मिलते ही कार्य शुरू करवा देंगे।जब तक स्वीकृति नहीं मिलती पेचवर्क करवा कर गड्ढों को भरने का कार्य शीघ्र किया जायेगा।ओर तामडिया से खेजड़ी सडक़ का टेण्डर पहले ही हो चुका समय से कार्य नहीं करने के लिए ठेकेदार को नोटिस जारी किया जा चुका है।जल्दी ही कार्य शुरू कर दिया जायेगा।