राजस्थान लघु एवं मध्यम समाचर पत्र संघ का महासम्मेलन अगले महीने जयपुर में

- अपने हितों व हक के लिए जुटेंगे प्रदेश के अखबार मालिक व पत्रकार संघों के प्रतिनिधि 
 
General Conference of Rajasthan Small and Medium Newspaper Association in Jaipur next month

जयपुर। राजस्थान के लघु व मध्यम समाचार पत्रों के मुद्दों (Issues of small and medium newspapers of Rajasthan) एवं मांगों के समाधान (Resolution of demands) के लिए रविवार को जयपुर में एक बैठक हुई। राजस्थान लघु व मध्यम समाचार पत्र एसोसिएशन (Rajasthan Small and Medium Newspaper Association) के बैनर तले आयोजित इस बैठक में सभी पत्रकार संघों के पदाधिकारियों और समाचार पत्रों के संपादक शामिल हुए।

 बैठक में लघु, मध्यम व मंझले समाचार पत्रों को नियमित तौर पर सरकारी विज्ञापन मिलने, विज्ञापन नीति में सरलीकरण, रियायती दरों पर संघों व समाचार पत्रों को जमीन आवंटन, कैशलेश मेडिकल पॉलिसी, डिजिटल पॉलिसी में  लघु समाचार पत्रों को लाभ मिलने के प्रावधान किए जाने, पत्रकार सुरक्षा कानून लागू करने, आईएनएस की तर्ज पर जयपुर में भी समाचार पत्रों के लिए भवन निर्माण, राज्यस्तरीय कमेटियों में संघों का प्रतिनिधित्व बढ़ाने समेत कई मुद्दों पर चर्चा हुई। 

चर्चा में सामने आए सुझावों व मांगों से सम्बंधित ज्ञापन माननीय मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को दिए जाने का प्रस्ताव लिया गया। साथ ही राजस्थान लघु व मध्यम समाचार संघ की ओर से लघु समाचार पत्रों की एकता और हितों के लिये अगले महीने जयपुर में एक महा सम्मेलन करने का फैसला किया गया जिसमें प्रदेश के सभी लघु व मध्यम समाचार पत्रों के प्रतिनिधि को आमंत्रित किया जाएगा। महासम्मेलन में माननीय मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को मुख्य अतिथि के तौर आमंत्रित किया जाएगा।

 बैठक की अध्यक्षता वरिष्ठ पत्रकार श्याम सिंह तंवर ने की। बैठक में लघु समाचार पत्र एसोसिएशन के अध्यक्ष कमलेश गोयल, दैनिक भोर के एडिटर जसविन्दर बल, वरिष्ठ पत्रकार जगदीश जैमन, राजकुमार गुप्ता, अनिल त्रिवेदी,सन्नी आत्रेय, मांगीलाल पारीक, मुकेश चौधरी, मुकेश पारीक, जार अध्यक्ष राकेश कुमार शर्मा, महासचिव संजय सैनी, सुरेंद्र चौधरी, लोकेंद्र सिंह, अनिल यादव, अभय सिंह, भवानी शंकर शर्मा, श्रीलाल चतुर्वेदी, मनीष भारद्वाज, अविनाश शर्मा, ओमवीर भार्गव,  दिनेश शर्मा, जतिन श्रीवास्तव, भीमसिंह लोदवाल, आर सी गौड, संजय सैनी, रजनीश शर्मा आदि पत्रकारों ने सम्मेलन को सफल बनाने एवं पत्रकारों की विभिन्न मांगों पर अपने-अपने सुझाव दिए।